Home » इंडिया » Amarnath yatra 2018 stopped due to rainy weather security measures increased after last year terrorist attack
 

रोकनी पड़ी अमरनाथ यात्रा, केवल 1,007 को बाबा बर्फानी ने दिए दर्शन

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 June 2018, 8:03 IST
(file photo)

अमरनाथ यात्रा को मौसम बिगड़ने के कारण बीच में ही रोकना पड़ा. बारिश के कारण ये यात्रा रोकनी पड़ी. यात्रा के शुरू होने और यात्रा से जुड़े आगे के फैसले श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) लेगा. ख़राब मौसम की वजह से अमरनाथ यात्रा के दौरान केवल 1,007 श्रद्धालु ही शिवलिंग के दर्शन कर पाए.

गौरतलब है कि यात्रा के लिए जो दो रास्ते निर्धारित हैं उनमे से बालटाल से 1,316 श्रद्धालुओं ने यात्रा की शुरुआत की, वहीं पहलगाम से केवल 60 श्रद्धालुओं ने दोपहर के वक़्त यात्रा की शुरुआत की. अमरनाथ यात्रा के लिए तकरीबन 3000 श्रद्धालुओं को कड़ी सुरक्षा के बीच बालटाल और पहलगाम आधार शिविरों में पहुंचाया गया था.

ये भी पढ़ें- IRCTC दे रहा है ट्रेन की टिकटों पर खाने-पीने का मैन्यू, देखिए रेट लिस्ट

अधिकारीयों से मिली जानकारी के अनुसार यात्रियों के अगले समूह को सड़क मार्ग इस्तेमाल करने की अनुमति के बाद रवाना किया गया. इसमें 3,434 श्रद्धालु भगवती नगर आधार शिविर से कश्मीर के लिए निकले. यात्रिओं का ये दूसरा समूह पहलगाम और बालटाल के आधार शिविरों आज शाम तक पहुंच सकता है.

 

बता दें इस साल अमरनाथ में पवित्र शिवलिंग के दर्शन के लिए दो लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने रजिस्ट्रेशन करवाया है. रजिस्ट्रेशन की ये प्रक्रिया 60 दिनों तक चली. अमरनाथ यात्रा 26 अगस्त को समाप्त होगी. इस बार सुरक्षा के कड़े इंतजामों के तहत सरकार ने पहली बार रेडियो फ्रीक्वेंसी टैग का इस्तेमाल किया है. दूसरी तरफ सीआरपीएफ ने भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये है. इस यात्रा के दौरान सीआरपीएफ ने कैमरे और लाइफ सेविंग उपकरणों से युक्त मोटरसाइकिल के दस्ते तैयार किये हैं.
पिछले साल अमरनाथ यात्रा के दौरान यात्रिओं से भरी बस पर आतंकवादी हमला हुआ था, जिसके मद्देनजर इस साल सुरक्षा और भी ज्यादा बढ़ा दी गयी है. ताकि किसी भी तरह की आतंकवादी घटना को अंजाम न दिया जा सके.

First published: 29 June 2018, 8:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी