Home » इंडिया » Amarnath Yatra : 40,000 security personnel deployed in J&K
 

इस बार गृह मंत्री अमित शाह ने अमरनाथ यात्रा के लिए किये ये खास इंतज़ाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 June 2019, 13:35 IST

केंद्र सरकार ने इस साल अमरनाथ यात्रा के लिए 40,000 से अधिक सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने तीर्थयात्रा की तैयारियों का आकलन करने के लिए राज्य की अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान सुरक्षा समीक्षा बैठकें भी कीं. सरकार 14 फरवरी के पुलवामा आत्मघाती विस्फोट के मद्देनजर सुरक्षा में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है. भारतीय सेना, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), और जम्मू और कश्मीर पुलिस को तीर्थयात्रियों को सुरक्षा प्रदान करने का काम सौंपा गया है.

एक्सेस कंट्रोल चेकिंग गैजेट्स को पहलगाम और बालटाल दोनों मार्गों पर तैनात किया जाएगा, जिसमें सभी तीर्थयात्रियों की जानकारी देने के लिए करने के लिए एक निर्दिष्ट बारकोड होगा. CRPF ने एडवांस RFID (रेडियो फ़्रीक्वेंसी आइडेंटिफ़िकेशन) टैग भी खरीदे हैं जो मार्ग पर चलने वाले नागरिक वाहनों को चिह्नित करने के लिए उपयोग करेगा. हालांकि केंद्र सरकार के सुरक्षा इंतजाम के बाद भी खुफिया इकाइयां अमरनाथ यात्रा के लिए रेडियो फ्रीक्वेंसी इंप्रूव्ड विस्फोटक डिवाइसेस (RF-IED) के खतरे से चिंतित हैं.

 

जुलाई 2017 में अमरनाथ यात्रा के दौरान आतंकवादी हमले में सात तीर्थयात्रियों की मौत और 19 घायल हो गए थे. आरएफ-आईईडी को रिमोट-नियंत्रित डिवाइस या सेलुलर डिवाइस के माध्यम से चालू किया जाता है और इसे दूर से ही विस्फोट किया जा सकता है. वे नक्सलियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले IED से भिन्न होते हैं जहां IED जरा सा भी वजन पड़ने पर यह फट जाता है.

बंगला टूटने के बाद अब बेघर होंगे पू्र्व सीएम चंद्रबाबू नायडू ! सरकारी आवास खाली करने को मिला नोटिस

First published: 28 June 2019, 13:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी