Home » इंडिया » Ambati Rayudu announced his retirement from all forms of cricket, written to BCCI
 

World Cup 2019 के बीच टीम इंडिया के इस बल्लेबाज ने अचानक ले लिया संन्यास, हैरान रह गया BCCI

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 July 2019, 14:10 IST

World Cup 2019 में भारतीय टीम अपने देश के लिए विश्वकप जीतने का प्रयास कर रही है. इस बीच भारतीय टीम के दिग्गज मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज ने संन्यास लेकर सबको हैरान कर दिया. वर्ल्‍डकप की टीम में जगह बनाने में नाकाम रहे मध्‍यक्रम के बल्‍लेबाज अंबाती रायुडू ने इंटरनेशनल क्रिकेट के सभी फॉर्मेटों से संन्‍यास लेने की घोषणा कर दी.

अंबाती रायुडू ने अपने संन्यास को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानि BCCI को सूचना दे दी है. 33 वर्षीय रायुडू विश्वकर 2019 की भारतीय टीम में चयन के प्रमुख दावेदार थे, लेकिन 15 सदस्‍यीय टीम में उन्‍हें जगह नहीं मिल पाई थी. इसके बाद टूर्नामेंट के दौरान शिखर धवन और विजय शंकर के चोटिल होने के बाद भी रायुडू को नजरअंदाज कर दिया गया.

चयनकर्ताओं ने शिखर धवन और विजय शंकर के रिप्लेसमेंट के तौर पर रायुडू की जगह ऋषभ पंत और मयंक अग्रवाल जैसे युवा खिलाड़ि‍यों पर भरोसा जताया. माना जा रहा है कि इसी से निराश होकर रायुडू ने संन्यास की घोषणा की है. 

इससे पहले खबर आ रही थी कि आइसलैंड क्रिकेट टीम ने रायुडू को अपने देश की नागरिकता देकर उन्हें अपने साथ जुड़ने की बात कही थी. आइसलैंड क्रिकेट ने इस बाबत अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से एक पोस्ट भी किया था.

रायुडू का जन्म आंध्र प्रदेश के गुंटूर में हुआ है. वह एक जमाने में भारतीय क्रिकेट के बेहद ही प्रतिभावान बल्‍लेबाज माने जाते थे. टीम इंडिया के लिए उन्होंने 55 वनडे और 6 टी20 मैच खेले हैं. इन 55 वनडे मैचों में रायुडू ने 47.05 के औसत से 1694 रन बनाए हैं, जिसमें तीन शतक और 10 अर्धशतक शामिल हैं. नाबाद 124 रन रायुडू का वनडे में सर्वोच्‍च स्‍कोर है. इसके अलावा 6 टी20 मैचों में उन्होंने केवल 42 रन बनाए हैं. 20 रन उनका सर्वोच्‍च स्‍कोर है.

रायुडू की पहचान कलात्मक बल्लेबाज की रही है. बल्‍लेबाजी के अलावा वह दाएं हाथ से स्पिन गेंदबाजी भी करते हैं. उनके नाम वनडे क्रिकेट में तीन विकेट भी दर्ज हैं. बता दें कि विश्वकप की जब टीम चुनी जानी थी तो रायुडू का स्‍थान चौथे नंबर पर बैटिंग के लिए तय माना जा रहा था, हालांकि उसी समय ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ खत्म हुई वनडे सीरीज में वह अच्‍छा प्रदर्शन नहीं कर पाए थे.

इसके बाद चयनकर्ताओं ने हैरान करने वाला फैसला लेते हुए विजय शंकर को उनकी जगह टीम में चुन लिया था. सिलेक्‍शन कमेटी के चेयरमैन एमएसके प्रसाद ने विजय शंकर को लेकर कहा था कि वह थ्रीडी प्‍लेयर हैं यानि गेंदबाजी, बल्‍लेबाजी और क्षेत्ररक्षण तीनों में निपुण हैं. इसी आधार पर उन्‍हें टीम में चुना गया. लेकिन विश्वकप में विजय शंकर कुछ खास नहीं कर पाए, बाद में चोट के कारण उन्‍हें पूरे विश्वकप से बाहर होना पड़ा.

बाइक समेत बाढ़ में बह गया युवक, फिर मौत से बचकर जिंदा आया वापस, देखिए खौफनाक Video

आकाश विजयवर्गीय पर भड़के PM मोदी बोले- 'विधायक खोना पड़े, तो यही सही..लेकिन बाहर निकालो'

First published: 3 July 2019, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी