Home » इंडिया » Ambedkar statue vandalised in Haridwar Uttarakhand, centre govt orders to state to control it
 

अब उत्तराखंड में अंबेडकर की मूर्ति तोड़ी गई, पीएम मोदी के सख्त रुख के बाबजूद घटनाओं पर लगाम नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 March 2018, 17:52 IST

देश भर में महानायकों की मूर्तियां टूटने का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है. त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति ढहाए जाने के बाद लगातार देश भर से नायकों की मूर्तियां टूटने की खबर आ रही है. कहीं श्यामा प्रसाद मुखर्जी, कहीं महात्मा गांधी तो कहीं पेरियार और कहीं अंबेडकर की मूर्तियां तोड़ी जा रही है. 

शुक्रवार को उत्तराखंड के हरिद्वार जिले में अंबेडकर की मूर्ति तोड़े जाने की खबर है. हरिद्वार के कान्हावाली गांव में अंबेडकर की मूर्ति कुछ अराजक तत्वों ने खंडित कर दी. इसकी जानकारी मिलते ही लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया. सूचना मिलने के बाद मौके पर पुलिस और प्रशासन के अधिकारी पहुंचे. आला अधिकारियों द्वारा इन्हें समझाया गया. इसके बाद उसी स्थान पर दूसरी मूर्ति लगाई गई.

आगे किसी विवाद से बचने के लिए वहां अभी पुलिस बल तैनात है. दरअसल हरिद्वार में खानपुर थाने के कान्हावाली गांव में आबादी से सटी जमीन पर बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की मूर्ति रखी हुई है. सुबह गांव के कुछ लोग इधर से निकले तो मूर्ति का एक हाथ और चश्मा टूटा हुआ था.

गौरतलब है कि त्रिपुरा में भाजपा की जीत के बाद कुछ कार्यकर्ताओं ने लेनिन की मूर्ति को जेसीबी की मदद से गिरा दिया था. इसके बाद तमिलनाडु में पेरियार, पश्चिम बंगाल में श्यामा प्रसाद मुखर्जी  और केरल के कन्नूर में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया गया.

First published: 9 March 2018, 17:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी