Home » इंडिया » america show his concern about intolerance in india
 

भारत में बढ़ती 'असहिष्णुता' पर अमेरिका ने जताई चिंता

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2016, 13:39 IST
(एजेंसी)

अमेरिका ने भारत में बढ़ती असहिष्णुता और हिंसा पर चिंता जताते हुए मोदी सरकार से कहा है कि वह नागरिकों की सुरक्षा और वांछित अपराधियों को सजा दिलाने के लिए हर संभव प्रयास करे.

इस मामले में अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा, ‘‘सभी तरह की असहिष्णुता से मुकाबला करने और धार्मिक और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को बनाए रखने की कोशिश में हम भारत सरकार और नागरिकों के साथ हैं.’’

प्रवक्ता किर्बी ने यह बात भारत में गोमांस का सेवन करने वाले लोगों के खिलाफ कथित हिंसा की घटनाएं और मध्य प्रदेश में भैंस का मांस ले जा रही दो मुस्लिम महिलाओं के साथ मारपीट की घटना से जुड़े सवालों के संदर्भ में कही.

जॉन किर्बी ने कहा, ‘‘भारत में बढ़ रही हिंसा और असहिष्णुता की खबरों से अमेरिका काफी चिंतित हैं. ऐसी समस्याओं का सामना कर रहे दुनिया भर के देशों की सरकारों से हम ज़ोर देकर कहते हैं वे इन मामलों में वांछित अपराधियों को सजा दिलवाने और नागरिकों को सुरक्षा प्रदान करने का हर संभव प्रयास करें.’’

किर्बी ने कहा कि भारतीय नागरिकों के सहिष्णु विचारों को और मजबूत बनाने के लिए अमेरिका उनके साथ मिलकर काम करने के लिए तैयार है क्योंकि इस कार्य से भारत और अमेरिका दोनों के हितों का फायदा होगा.

गौरतलब है कि बीते दिनों मध्य प्रदेश के मंदसौर में रेलवे स्टेशन पर गोमांस होने के शक में कथित गोरक्षकों द्वारा दो महिलाओं की पुलिस की मौजूदगी में पिटाई की गई थी.

इन कथित गो रक्षकों को शक था कि उन महिलाओं के पास गोमांस है हालांकि उनके साथ हुई मारपीट के बाद पता चला कि उनके पास जो मांस बरामद हुआ था, वह गाय का नहीं बल्कि भैंस का था.

वहीं, इससे पहले गुजरात के उना जिले में भी इसी किस्म की घटना हुई थी जिसमें कथित गोरक्षकों के द्वारा मृत गाय की खाल उतारने के मामले में कुछ दलित युवकों की बेरहमी से पिटाई की गई थी.

First published: 30 July 2016, 13:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी