Home » इंडिया » Amit shah criticises rahul gandhi and arvind kejriwal on army surgical strike
 

सर्जिकल स्ट्राइक पर राहुल और केजरीवाल के बयान पर बिफरे अमित शाह

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 October 2016, 12:56 IST
(फाइल फोटो)

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन करके सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के मामले में पीएम मोदी पर आरोप लगाने वाले बयान की जमकर निंदा की.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और केजरीवाल के बयानों पर पलटवार करते हुए शाह ने कहा, 'कुछ पार्टियों ने भारत द्वारा पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाए गए थे. मैं ऐसे प्रयासों की निंदा करता हूं. जिन्होंने भी ऐसे प्रयास किए हैं, उन्होंने सेना का अपमान किया, शहीदों का अपमान किया है.'

शाह ने कहा, 'सेना की वीरता पर सवाल उठाए गए हैं. इसकी शुरुआत आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने की थी. केजरीवाल ने सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगे थे. मैं बताना चाहता हूं कि केजरीवाल गुरुवार को पाकिस्तान में ट्रेंड करने लगे थे. अब इससे पता लगता है कि केजरीवाल किसे फायदा पहुंचा रहे हैं.'

राहुल गांधी पर हमला करते हुए शाह ने कहा, 'कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने जब जवानों के खून की दलाली का इस्तेमाल किया तो सभी सीमाओं का उल्लंघन कर दिया. यह देश की सेना का, देश के सवा अरब लोगों का अपमान है.'

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, 'मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि कोयले से लेकर टूजी तक किसने दलाली की. आपके जेहन में तो दलाली कहीं ना कहीं है. आतंक के खिलाफ जब पूरा देश एकजुट होकर लड़ने का मूड बना रहा है तभी आपका एक बयान सेना के मनोबल को कमजोर कर देता है.'

अमित शाह ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद जिस तरह से भारतीय मीडिया ने सेना की वीरता और कार्य कुशलता की सराहना की है इससे उनका मनोबल बढ़ता है. भारतीय मीडिया ने आतंक को बढ़ावा देने वाले देश के बारे में दुनिया को बताया है.

गौरतलब है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जवानों की शहादत का राजनीतिक लाभ उठाने का प्रयास करने का आरोप लगाया था.

राहुल गांधी ने कहा था, 'जो हमारे जवान हैं जिन्होंने अपना खून दिया है, जम्मू और कश्मीर में खून दिया है, जिन्होंने हिन्दुस्तान के लिए सर्जिकल स्ट्राइक किये हैं, उनके खून के पीछे आप (मोदी) छिपे हैं. उनकी आप दलाली कर रहे हो. ये बिल्कुल गलत है.'

First published: 7 October 2016, 12:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी