Home » इंडिया » Amit Shah meets Shiv Sena chief Uddhav Thackeray meeting 2 hours in closed room
 

रूठे उद्धव ठाकरे सीट बंटवारे और मंत्री पद पर हुए राजी, अमित शाह ने 2 घंटे तक मनाया

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 June 2018, 8:41 IST

भाजपा के खिलाफ काफी समय से बगावती तेवर दिखा रहे शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह बुधवार 6 जून की शाम मातोश्री में मिलने पहुंचे. खबर है कि उद्धव ठाकरे आने वाले लोकसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे और कैबिनेट विस्तार में उनकी भूमिका के बदले मान गए हैं.

सूत्रों के अनुसार, अमित शाह ने सीटों के बंटवारे और कैबिनेट विस्तार पर बंद कमरे में करीब दो घंटे तक उद्धव को मनाया, जिसके बाद सूत्रों का दावा है कि अमित शाह ने नाराज उद्धव ठाकरे को मना लिया है. करीब सवा दो घंटे से अधिक चर्चा में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और युवा सेना अध्यक्ष आदित्य ठाकरे भी मौजूद थे. 

सूत्रों का कहना है कि दोनों नेताओं के बीच आने वाले लोकसभा चुनाव में साथ लड़ने और सीट बंटवारे पर चर्चा हुई. इस मुलाकात में यह भी तय हुआ कि दोनों के बीच आने वाले समय में कुछ और बैठकें होंगी. भाजपा सूत्रों का कहना है कि ये मुलाकात सकारात्मक रही है. मुलाकात में उद्धव ठाकरे के तेवर नरम हुए हैं. अमित शाह ने उनसे मंत्रिमंडल विस्तार के अलावा केंद्र और राज्य सरकार में शिवसेना की भागीदारी, लोकसभा और विधानसभा में सीट बंटवारे पर चर्चा की.

 

वहीं मुलाकात के बाद एक मराठी चैलन जी 24 तास को दिए इंटरव्यू में अमित शाह ने कहा था कि शिवसेना से जो भी नाराजगी है उसे दूर कर लेंगे. उन्होंने कहा था कि हम साल 2019 ही नहीं साल 2024 का चुनाव भी साथ लड़ेंगे. इसके अलावा विपक्षी एकता के सवाल पर अमित शाह ने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा. सभी दल पीएम मोदी की अच्छी नीतियों से डरे हुए हैं और उन्हें हटाने के लिए एकजुट हुए हैं, लेकिन इससे बीजेपी पर कोई असर नहीं होगा.

पढ़ें- 2000 करोड़ के घोटाला मामले में फंसे शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा, ED दफ्तर में हो रही गहन पूछताछ

बता दें कि साल 2019 का चुनाव होने में अब मात्र एक साल का समय ही रह गया है. बीजेपी ने इन चार सालों में अपने कई सहयोगियों को खो दिया है. इसके अलावा सभी विपक्ष बीजेपी के खिलाफ एकजुट हो गया है. बीजेपी ने आंध्र में चंद्रबाबू नायडू की पार्टी टीडीपी का साथ खो दिया है, बिहार में भी सीट बंटवारे को लेकर जेडीयू से उसका घमासान चल रहा है.

ऐसे में बीजेपी शिवसेना को खोना नहीं चाहती. 2019 के चुनाव से पहले अमित शाह एनडीए के नाराज साथियों को मनाने में लगे हुए हैं. इसीलिए वह उद्धव ठाकरे से मिलने मातोश्री पहुंचे थे.

First published: 7 June 2018, 8:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी