Home » इंडिया » Amit Shah says BJP is with Devotees, will warn Kerala government
 

सबरीमाला विवाद: SC के फैसले के खिलाफ BJP अध्यक्ष अमित शाह ने केरल सरकार के लिए कही ये बात..

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 October 2018, 13:52 IST

केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर चल रहा विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. मंदिर में महिलाओं के प्रवेश की मनाही के खिलाफ देश की सर्वोच्च अदालत ने फैसला सुनाते हुए मंदिर में महिलाओं के प्रवेश निषेध को खत्म करते हुए सभी उम्र की महिलाओं के लिए मंदिर में प्रवेश की अनुमति दे दी है. लेकिन इस मामले में सियासत गर्माती जा रही है. केरल में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ जाकर कई हिंदू संगठन विरोध प्रदर्शन में लगे हुए है.

प्रदर्शन के चलते की मंदिर में प्रवेश की कोशिश पुलिस की मौजूदगी के बाद भी नाकामयाब रही. इस मामले में अब भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने एक बड़ा बयान दिया है. अमित ने कहा, ''केरल में आज सरकार की क्रुरता और धार्मिक विश्वास के बीच संघर्ष जारी है. अभी तक भारतीय जनता पार्टी, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(आरएसएस) और दूसरी हिन्दू संस्थाओं के 2000 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है. भारतीय जनता पार्टी भक्तों के साथ चट्टान बन कर खड़ी है. वाम सरकार को इसके खिलाफ चेतावनी दी जाएगी.''

गौरतलब है कि सबरीमाला मन्दिर में प्रवेश को लेकर कई हिंदू संगठन लगातार विरोध करते जा रहे हैं. इसके लिए प्रदर्शनकारी मंदिर के बाहर प्रोटेस्ट कर रहे हैं. बीते दिनों मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के लिए पुलिस हेलमेट पहना कर दो महिलाओं को मंदिर तक ले गई. मंदिर में प्रवेश से रोकने के लिए पहले से ही मंदिर के बाहर मौजूद प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी तेज कर दी. 

सबरीमाला विवाद: हेलमेट पहना कर महिलाओं को मंदिर ले जा रही थी पुलिस, हिंसा के चलते वापस लौटीं

महिलाओं के मंदिर के बाहर पहुंचते ही विरोध कर रहे लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया. भारी विरोध के चलते दोनों महिलाओं को आधे रास्ते से वापस लौटा दिया गया. मंदिर में प्रवेश एक लिए जाने वाली इन दो महिलाओं में से एक पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता थीं.

कन्नौर में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए BJP अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, ''जो लोग सुप्रीम कोर्ट के फैसले के नाम पर हिंसा भड़काना चाहे तो मैं बता दूx कि ऐसे कई मंदिर हैं जो कि अलग नियमों से चलते हैं. ''

First published: 27 October 2018, 13:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी