Home » इंडिया » Amitabh Bacchan's incredible india role delayed
 

'अतुल्य भारत' का चेहरा नहीं बनेंगे अमिताभ !

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 April 2016, 12:48 IST

पनामा पेपर्स लीक का साइड इफेक्ट दिखने लगा है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि पेपर्स लीक में बॉलीवुड सुपरस्टार अमिताभ बच्चन का नाम सामने आने के बाद उन्हें अतुल्य भारत का चेहरा बनाने का फैसला फिलहाल रोक दिया गया है.

सूत्रों के मुताबिक सरकार ने आमिर खान का कॉन्ट्रैक्ट खत्म होने के बाद अमिताभ और प्रियंका चोपड़ा को अभियान का ब्रांड एंबेसडर बनाने का फैसला किया था. पर्यटन मंत्रालय ने मीडिया प्लानिंग के लिए एक फर्म से अनुबंध भी कर लिया था.

पढ़ें:पनामा पेपर्स लीक: टैक्स चोरी के गोरखधंधे में कई भारतीय दिग्गज शामिल

फर्म की रिपोर्ट आने के बाद अमिताभ के साथ करार साइन किया जाता. साथ ही विज्ञापन एजेंसी से कॉन्ट्रैक्ट करके मंत्रालय अतुल्य भारत के प्रचार का विज्ञापन बनवाता. लेकिन अब मंत्रालय जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है.

पनामा पेपर्स के खुलासे के बाद वित्त मंत्रालय ने एक जांच कमिटी बनाई है. लेकिन रिपोर्ट आने से पहले ही मंत्रालय ने अमिताभ के नाम का विचार छोड़ दिया है.

सरकार से जुड़े सूत्रों के मुताबिक काले धन के खिलाफ सरकार मुहिम कमज़ोर नहीं करना चाहती. लिहाजा अब केवल प्रियंका चोपड़ा ही अतुल्य भारत की ब्रांड एंबेसडर होंगी. अमिताभ का नाम ठंडे बस्ते में चला गया है.

अक्षय कुमार भी दौड़ में !


पनामा की लॉ फर्म मोसेक फॉन्सेका के दस्तावेजों ने दुनिया भर में तूफ़ान मचा दिया है. इस लिस्ट में 500 भारतीयों के नाम बताए जा रहे हैं. जिसमें सुपर स्टार अमिताभ बच्चन और उनकी बहू ऐश्वर्या रॉय का नाम भी शामिल है.

पनामा पेपर्स के खुलासे के बाद अमिताभ बच्चन को अतुल्य भारत का ब्रांड एंबेसडर बनाए जाने की प्रक्रिया को रोक दिया गया है. हालांकि अमिताभ का दावा अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है.

पढ़ें:पनामा पेपर्स लीक: अमिताभ बच्चन ने चुप्पी तोड़ी

मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक सरकार जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं लेना चाहती. ये केंद्र सरकार का प्रमुख अभियान है. पर्यटन मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक अक्षय कुमार के नाम पर भी चर्चा चल रही है.

ये भी चर्चा है कि इस बार महिला ब्रांड एंबेसडर को ही चुना जाए. इसी साल जनवरी में आमिर खान को अतुल्य भारत अभियान से हटा दिया गया था.

माना जा रहा है कि असहिष्णुता पर दिए गए उनके बयान की वजह से ये फैसला लिया गया था.

पढ़ें:अमिताभ बच्चन: बोफोर्स से उबरने में लगे 25 साल

First published: 19 April 2016, 12:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी