Home » इंडिया » Amritsar Blast: 50 lakh rupees will be given for the information of attackers
 

अमृतसर ब्लास्ट: CM ने किया ऐलान, हमलावरों का सुराग देने वाले को मिलेगा 50 लाख रुपये इनाम

न्यूज एजेंसी | Updated on: 19 November 2018, 14:48 IST

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को ऐलान किया कि अमृतसर जिले के निरंकारी सत्संग भवन में प्रार्थना सभा के दौरान ग्रेनेड फेंकने वाले दो युवकों के बारे में जो कोई भी सुराग देगा, उसे इनाम के तौर पर 50 लाख रुपये दिए जाएंगे. पंजाब पुलिस ने राजसांसी इलाके के अदलीवाला गांव में हुए ग्रेनेड हमले की जांच के लिए कई टीमों का गठन किया है. चेहरा ढके दो युवकों के बारे में और जानकारी जुटाने के लिए विस्फोट के आसपास की जगहों के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं.

फोरेंसिक टीम और राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की एक टीम जांच शुरू करने के लिए रविवार देर रात घटनास्थल पर पहुंची. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि जहां कुछ घायलों को अमृतसर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है, वहीं कई अन्य अभी भी अस्पताल में हैं. एक घायल की हालत अभी भी गंभीर है.

पुलिस महानिरीक्षक (बार्डर रेंज) एस.पी.एस. परमार ने सोमवार को मीडिया से कहा कि जांच सभी कोणों से की जाएगी और पुलिस की टीमें अपराधियों का पता लगाने की कोशिश कर रही हैं.इस बड़े आतंकवादी हमले में तीन लोग मारे गए, जबकि 20 घायल हो गए. चेहरा ढके मोटरसाइकिल पर आए दो युवकों ने अमृतसर से 15 किलोमीटर दूर अदलीवाला गांव में निरंकारी धार्मिक सभा के दौरान ग्रेनेड फेंक दिया था.

अमृतसर ब्लास्ट: सामने आई दोनों हमलावरों की तस्वीर, ऑनलाइन ऐप के जरिये आतंक से जोड़े जा रहे युवा

गुरु राम दास जी अमृतसर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से करीब तीन किलोमीटर दूर ग्रामीण क्षेत्र में स्थित परिसर पर हुए इस हमले ने दहशत पैदा कर दी. सभी पीड़ित आसपास के गांवों के निरंकारी अनुयायी थे, जो रविवार को साप्ताहिक धार्मिक सभा के लिए जुटे थे. वरिष्ठ अधिकारियों के साथ घटनास्थल पर फौरन पहुंचे पंजाब के पुलिस महानिदेशक सुरेश अरोड़ा ने स्वीकार किया कि यह एक 'आतंकवादी कृत्य' है.

प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि चेहरा ढककर मोटरसाइकिल पर आए दो युवक गेट पर मौजूद एक महिला पर पिस्तौल तानकर जबरन निरंकारी भवन के परिसर में घुस गए. परसिर में उस समय करीब 200 निरंकारी अनुयायी मौजूद थे. पिछले कुछ महीनों से खालिस्तानी और कश्मीरी आतंकवादी पंजाब में माहौल बिगाड़ने और हमले अंजाम देने की कोशिश कर रहे हैं.

जम्मू एवं कश्मीर पुलिस के साथ पंजाब पुलिस ने हाल ही में पंजाब के संस्थानों में पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों के दो गिरोहों का पदार्फाश किया था, जिनके संबंध कश्मीरी आतंकवादी संगठनों से थे. गौरतलब है कि 14 सितंबर को कश्मीरी आतंकवादियों ने मकसूदां पुलिस थाने को हथगोले फेंक कर निशाना बनाया था. हालांकि, इस हमले में कोई घायल नहीं हुआ था.

पंजाब के गुरदासपुर जिले में कश्मीरी आतंकवादी जाकिर मुसा का पोस्टर शुक्रवार को रहस्यमय तरीके से सामने आया, जिसके बारे में कहा गया कि वह पंजाब में देखा गया था. मुख्यमंत्री ने कहा कि 18 महीनों में 15 आतंकवादी गिरोहों का पर्दाफाश हुआ है.

 

First published: 19 November 2018, 14:48 IST
 
अगली कहानी