Home » इंडिया » Amritsar Blast: Pictures of attacker released, youth is targeted to join terror through online app
 

अमृतसर ब्लास्ट: सामने आई दोनों हमलावरों की तस्वीर, ऑनलाइन ऐप के जरिये आतंक से जोड़े जा रहे युवा

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 November 2018, 9:16 IST

पंजाब के अमृतसर में हुए ग्रेनेड हमले को लेकर प्रशासन और पुलिस में हड़कंप मच गया है. खुफिया एजेंसी की जानकारी और हाई अलर्ट के बाद भी आतंकी अपने मनसूबे में कामयाब रहे. संत निरंकारी भवन में हुए इस ब्लास्ट में 3 लोगों की मौत हो गई. इस ब्लास्ट के बाद से पंजाब समेत राजधानी दिल्ली, हरियाणा और एनसीआर में हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया है.

अमृतसर में जिन दो बाइक सवारों पर ये ग्रेनेड हमला करने का शक है उन दोनों की तस्वीर सामने आई है. पुलिस लगातार इन हमलावरों की तलाश में लगी हुई है. हमला किसने करवाया है इस बात की अभी तक कोई पुष्टि नहीं हो पाई है. NIA की टीम भी कल देर रात इस मामले में जांच के लिए अमृतसर पहुंच चुकी है.

खालिस्तान समर्थकों पर भी है हमला कराने का शक

खुफिया एजेंसियों को इस ग्रेनेड हमले का शक गोपाल सिंह चावला पर है. गौरतलब है कि गोपाल सिंह को आतंकी हाफिज सईद के साथ देखा गया था. खुफिया एजेंसियों की जानकारी के अनुसार ये बात सामने आई है कि चावला पंजाब में ISI की मदद से बड़े धमाके करने की जुगत में था. ऐसी भी खबरें है कि युवाओं को आतंक के रास्ते से जोड़ने के लिए वह ऐसे ऐप्स के जरिए स्थानीय युवाओं को टारगेट कर रहा था जिसे आसानी से डिकोड न किया जा सके.

गोपाल सिंह चावला एक पाकिस्तानी सिख है और वह पाकिस्तानी शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का पूर्व महासचिव भी रह चुका है. उसे खालिस्तानी का समर्थक माना जाता है. इतना ही नहीं खबरों की मानें तो जिस आतंकी मूसा के घुसपैठ करके पंजाब में छिपे होने की खबर है वह कुछ दिनों पहले खालिस्तानी समर्थकों से मिला था. आशंका है कि जिन लोगों से जाकिर मूसा मिला है, वह स्लीपर सेल भी हो सकते हैं.

First published: 19 November 2018, 9:11 IST
 
अगली कहानी