Home » इंडिया » Amritsar Train Accident: Pakistan PM Imran khan and Russia president Putin pays tribute to death people
 

अमृतसर ट्रेन हादसे को लेकर विदेश में भी दुख, पाकिस्तान PM ने कहा ऐसा जिसकी भारत को नहीं थी उम्मीद

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 October 2018, 10:01 IST

दशहरे के मौके पर अमृतसर के ट्रेन हादसे से पूरे देश में दुख और रोष है. त्योहारों के बीच हुई इस भयावह दुर्घटना के कई लोगों की जिंदगी बदल दी. 60 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई. वहीं कुछ लोगों ने अपना एक हाथ खो दिया तो कसी ने अपना पैर. ये रेल हादसा इन लोगों के लिए जिंदगी भर न भुलाने वाला खौफनाक हादसा बन गया है. विदेशों में भी इस दर्दनाक हादसे को लेकर दुःख का माहौल है.

आतंकवाद के मुद्दे पर भारत से हमेशा नकारात्मक संबंध होने के बाद भी पाकिस्तान के इस घटना पर गहरा दुखा जताया है. पकिस्तान के नए पीएम इमरान खान ने इस ट्रेन एक्सीडेंट के बारे में ट्वीट करते हुए कहा, ''अमृतसर के ट्रेन हादसे के बारे में जानकर दुख हुआ. मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदनाएं.'' इन दोनों देशों में आतंकवाद के मुद्दे को लेकर हमेशा तल्ख़ रिश्ते रहे हैं लेकिन आपदा के समय पर दोनों देश एक दूसरे के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं.

हाल ही में भारत की विदेशी मामलों की मंत्री सुषमा स्वराज ने जिस तरह से एक उच्च स्तरीय मीटिंग रद्द की थी उसके बाद पाकिस्तान की तरफ से इसकी उम्मीद नहीं की जा रही थी. कुछ समय पूर्व ही देश के एक BSF जवान की पाकिस्तानी सेना द्वारा बेरहमी से हुयी हत्या को लेकर भी दोनों देशों के बीच तल्ख़ संवादों का आदान प्रदान हुआ था.

लाल किले पर तिरंगा फहरा कर आज PM मोदी रचेंगे नया इतिहास, किसी भी पूर्व प्रधानमंत्री ने नहीं किया ऐसा

 

वहीं इस मामले में रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने भी हादसे में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी है. उन्होंने कहा, ''मैं पंजाब में रेलवे पर दुर्घटना के दुखद परिणामों पर अपनी गहरी सहानुभूति प्रदान करता हूं. हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों के इस दुख की घड़ी में साथ हूं और घायल लोगों के जल्दी ठीक होने की प्रार्थना करता हूं.''

पुतिन के साथ ही कनाडा के प्रधान मंत्री जस्टिन ट्रुडो ने भी इस हादसे को लेकर अपनी संवेदना जाहिर की. उन्होंने कहा, "मेरी सहानुभूति उन सभी के साथ है, जिन्होंने अमृतसर में हुई ट्रेन दुर्घटना में अपने प्रियजन को खो दिया है. समस्त कनाडाई लोगों की तरफ से मैं मृतकों को श्रद्धांजलि देता हूं. साथ ही घायलों के जल्द ठीक होने की प्रार्थना करता हूं."

ईरान से तेल आयात को लेकर चल रहे विवादों के बीच ईरान के विदेश मंत्रालय से भी भारत के इस दर्दनाक हादसे को लेकर दुःख व्यक्त किया गया. ईरान के विदेश मंत्रालय ने कहा, ''इस दुख की घड़ी में हम भारत के साथ हैं.''

First published: 21 October 2018, 10:01 IST
 
अगली कहानी