Home » इंडिया » Amritsar Train accident: People protest on Relief Train appose education minister
 

अमृतसर हादसा: गुस्साए लोगों ने रिलीफ ट्रेन पर किया पथराव, शिक्षा मंत्री का भी किया विरोध

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 October 2018, 11:21 IST

पंजाब के अमृतसर में दशहरे के मौके पर हुए भयानक रेल एक्सीडेंट में अभी तक 60 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है. इस हादसे में घायल 50 से ज्यादा लोगों का इलाज चल रहा है. जिनमें से 15 घायलों की हालत बहुत गंभीर बताई जा रही है. इतने बड़े रेल हादसे के लिए रेलवे विभाग और प्रशासन के लिए लोगों में गुस्सा है. इसके चलते हादसे के बारे में जानकारी लेने पहुंचे शिक्षा मंत्री ओपी सोनी को भी भीड़ का गुस्सा झेलना पड़ा. गुस्साई भीड़ ने शिक्षा मंत्री का विरोध करते हुए हंगामा किया.

लोगों के विरोध से इतना ज्यादा हंगामा हुआ कि शिक्षा मंत्री की सुरक्षा में तैनात गनमैन को भीड़ तितर-बितर करने के लिए हवाई फायरिंग करनी पड़ी. इतना ही नहीं दुर्घटनास्थल पर पहुंची रिलीफ ट्रेन पर भी लोगों ने पथराव कर दिया. रिलीफ ट्रेन किसी भी रेल दुर्घटना के बाद अफसरों और मेडिकल टीम को भेजा जाता है जिससे कि घायलों को मदद पहुंचाई जा सके.

Video: रावण बन आकर आई ट्रेन ने कुचल दीं सैकड़ों जानें, पटरी से 150 मीटर दूर तक बिखर गए शव के टुकड़े

घटनास्थल के लिए जा रही रिलीफ ट्रेन का लोगों ने विरोध करना शुरू आकर दिया. लोगों ने इस रिलीफ ट्रेन के शीशे तोड़ दिए. ट्रेन में रेलवे के डॉक्टर और अफसर सवार थे. विरोध और हिंसा के बढ़ते आसार को देखते हुए रेलवे के अफसरों को तत्काल ट्रेन वापस अमृतसर ले जानी पड़ी. गौरतलब है कि इस मामले में भी सियासी बयानबाजी शुरू हो गई है. घटनास्थल पर पहुंचे अकाली दल नेता और पूर्व मंत्री विक्रम सिंह मजीठिया ने इस दर्दनाक एक्सीडेंट के लिए नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी नवजोत कौर को जिम्मेदार बताया है.

पंजाब सरकार ने इस भयानक रेल हादसे में मरे लोगों के परिजनों को 5 लाख रूपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है. पंजाब सरकार ने हादसे के कारणों का पता लगाने के लिए जांच के आदेश दिए हैं. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि वो शनिवार को अमृतसर जाएंगे.

First published: 20 October 2018, 11:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी