Home » इंडिया » amry chief general bipin rawat says Army&security forces are brutally carrying out operations are not true
 

कश्मीरियों को परेशान करना सेना का मकसद नहीं, आतंकियों का होगा पूरा सफाया- सेना प्रमुख

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 June 2018, 13:28 IST

रमज़ान सीज़फायर के खत्म होने के बाद सेना ने एक बार फिर से आतंकियों का सफाया शुरू कर दिया है. घाटी में आज सेना ने एक आतंकी को मार गिराया. आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे इस ऑपरेशन को लेकर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने बयान दिया है. बिपिन रावत ने कहा कि हमारा उद्देश्य घाटी से आतंकियों का सफाया करना है. जो कश्मीर में शांति भंग कर रहे हैं और हिंसा फैला रहे है. हमारा उद्देश्य किसी भी तरह से सिविलियन्स को परेशान करना नहीं है.

सेना के ऑपरेशन की बर्बरता को लेकर हो रहीं बातों पर जनरल रावत ने कहा, ''सेना घाटी के निवासियों के साथ बहुत ही मित्रवत व्यव्हार से ऑपरेशन को चला रही है. सेना की बर्बरता को लेकर जो भी बातें सामने आ रही हैं वो सच नहीं हैं.''

 

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर से सेना ने ऑपरेशन शुरू कर दिया है. घाटी से आतंकियों के सफाये के लिए सेना का ऑपरेशन रमजान सीजफायर ख़त्म होने के बाद फिर से शुरू हो गया. शुक्रवार को कुपवाड़ा में सेना ने एक मुठभेड़ में एक आतंकी को मार गिराया. सेना ने ये ऑपरेशन कुपवाड़ा के त्रेहग्राम इलाके में किया.

सेना को इस बार बड़ी सफलता हासिल हुई है. जिसके बाद सेना ने एक आतंकी को मौत के घाट उतार दिया. इसके अलावा भी सेना ने आतंकियों को साफ करने एक लिए ऑपरेशन को जारी रखा है. ऑपरेशन से बौखलाए आतंकियों ने शोपियां में सेना पर हमला बोल दिया. शोपियां में सेना पर आतंकियों ने हैंड ग्रेनेड से हमला किया जिसमे एक जवान घायल हो गया. इसके बाद सेना का सर्च ऑपरेशन जारी है.

अमरनाथ यात्रा के मद्देनजर एक्टिव हैं एजेंसियां

अमरनाथ यात्रा के चलते सुरक्षा एजेंसियां पूरी मुस्तैदी से काम पर लगी हुई है. ख़ुफ़िया सूचना की मानें तो पाकिस्तान का लश्कर-ए-तैयबा अमरनाथ यात्रा के लिए अपनाये जाने वाले रस्ते पर निशाना लगा सकता है. एजेंसियों ने पिस्सू टॉप और शेशांग पर हमले की आशंका जताई है. यह दोनों जगह बहुत ही संवेदनशील माने जाते हैं. जिसके बाद सेना बने सुरक्षा की तैयारियां और ज्यादा बढ़ा दी हैं.

First published: 29 June 2018, 12:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी