Home » इंडिया » Andra pradesh CM Chandrababu Naidu become guardian of a rape victime will bear her studies expenses
 

CM चंद्रबाबू नायडू ने कायम की इंसानियत की मिसाल,नाबालिग रेप पीड़िता के बनेंगे अभिभावक

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 May 2018, 10:10 IST

एक ओर जहां पूरा देश रेप जैसे जघन्य अपराध को लेकर आक्रोश में है वहीं दूसरी ओर एक इंसानियत की मिसाल पेश की है,आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने. आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू के इस कदम से ये साबित हो गया कि राजनीति से इतर इंसानियत भी है.

मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने शनिवार को ऐलान किया कि रेप की शिकार 9 साल की लड़की के अभिभावक बनेंगे और उसकी शिक्षा से जुड़े सभी तरह के खर्च को अपने निजी पैसे से उठाएंगे. गुंटुर शहर में सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती नाबालिग लड़की से बात करने के बाद उन्होंने कहा कि वह अपना निजी पैसा उसकी शिक्षा पर तब तक खर्च करेंगे, जब तक वह अपना लक्ष्य हासिल नहीं कर लेती.

ये भी पढ़ें- कर्नाटक चुनाव: मोदी का विपक्ष पर वार बोले, नतीजों के बाद कांग्रेस बन जाएगी PPP

नायडू ने कहा कि पीड़िता के माता-पिता अपनी जिम्मेदारी निभाते रहेंगे, लेकिन वह उसके लिए अपने स्तर पर बेहतर शिक्षा दिलाने की कोशिश करेंगे. उन्होंने कहा, 'मैंने जिलाधिकारी से कह दिया है कि गुंटुर में सबसे अच्छे स्कूल की पहचान करें.'

राज्य सरकार ने पहले ही पीड़िता के परिवार को बतौर मुआवजा 5 लाख देने की घोषणा कर चुकी है. राज्य के मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके अलावा 5 लाख रुपया लड़की के नाम से फिक्सड डिपॉजिट (एफडी) किया जाएगा. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि खेती के लिए रेप पीड़िता के परिवार को 2 एकड़ की जमीन के अलावा उसके पिता को नौकरी और घर दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें- कर्नाटक विधानसभा चुनाव: सोनिया गांधी ने बदला फैसला, करेंगी चुनाव प्रचार

9 साल की लड़की का बुधवार को गुंटुर जिले में डेचापल्ली में 50 साल के एक रिक्शाचालक ने रेप किया था. घटना सामने आने के बाद लोगों ने जमकर प्रदर्शन भी किया. बाद में आरोपी ने गांव में खुदकुशी कर ली. प्रदर्शनकारियों की ओर से आरोपी को सार्वजनिक तौर पर फांसी दिए जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस तरह के अपराध को डील करना बेहद मुश्किल होता है. ऐसे लोगों के लिए राज्य में कोई जगह नहीं है, यहां पर इंसान को इंसान की तरह ही रहना होगा, जंगली की तरह नहीं.

रेप केस में पीड़ित को जल्द न्याय मिले इसके लिए पहल करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि रेप से संबंधित केसों की जल्द सुनवाई के लिए स्पेशल कोर्ट बनाए जाएंगे.साथ ही उन्होंने वकीलों से कहा कि ऐसे दोषियों को बचाने की कोशिश न की जाए.

First published: 6 May 2018, 10:10 IST
 
अगली कहानी