Home » इंडिया » anna hazare says kejriwal is corrupt, Modi government does not want to end corruption
 

बोले अन्ना हजारे: भ्रष्ट हैं केजरीवाल, मोदी सरकार में भ्रष्टाचार खत्म करने की इच्छाशक्ति नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 February 2018, 14:02 IST

वरिष्ठ समाजसेवी अन्ना हजारे ने मोदी सरकार और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है. अन्ना हजारे ने केन्द्र की मोदी सरकार पर कमजोर लोकपाल विधेयक लाने का आरोप लगाया. इसके अलावा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर भ्रष्ट होने का आरोप लगाया.

सीतापुर के राजा कॉलेज मैदान में आयोजित एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए अन्ना हजारे ने कहा कि देश की चुनाव प्रणाली में सुधार किये बगैर राजनीतिक भ्रष्टाचार का खात्मा नहीं होगा. इसके साथ ही उन्होंने लोकपाल लोकायुक्त के लिए 23 मार्च से अनशन पर जाने की बात कही.

 

इसी बाबत जब एक पत्रकार ने उनसे पूछा कि क्या इस अनशन में वह अरविंद केजरीवाल को बुलाएंगे तो उन्होंने कहा कि ऐसे भ्रष्ट लोगोंं को मेरे पास आने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा, "वे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को नहीं बुलाएंगे."

उ्न्होंने कहा कि जिस प्रकार केजरीवाल के विधायकों ने दिल्ली के मुख्य सचिव के साथ मारपीट की वह बहुत गलत है और इस मामले को लेकर उचित कार्रवाई की जानी चाहिए.”

कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, "हमने पूर्ववर्ती कांग्रेसनीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार के कार्यकाल में लोकपाल के लिये आंदोलन चलाया था. उस वक्त प्रधानमंत्री रहे मनमोहन सिंह ने जनता से छल करते हुए आश्वासन के बावजूद लोकपाल विधेयक पेश नहीं किया."

 

उन्होंने कहा कि इसके बाद सत्ता में आई मोदी सरकार कमजोर विधेयक लेकर आई. अन्ना हजारे ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा लाये गये विधेयक, जिसमें सरकारी अधिकारियों के परिजन की सम्पत्तियों का हर साल ब्यौरा दिये जाने की अनिवार्यता थी, उसे वापस ले लिया गया.

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार भ्रष्टाचार मुक्त तंत्र बनाने की बात तो करती है लेकिन उसमें सशक्त लोकपाल बनाने की इच्छा नहीं दिखती. उन्होंने कहा कि वह सशक्त लोकपाल, किसानों को उनकी उपज का दाम दिलाने समेत विभिन्न मांगों को लेकर आगामी 23 मार्च से दिल्ली के रामलीला मैदान में जनांदोलन शुरू करेंगे.

First published: 28 February 2018, 14:02 IST
 
अगली कहानी