Home » इंडिया » Army: If any need we do again surgical strike against pakistan
 

सेना: अगर जरूरत हुई तो फिर करेंगे सर्जिकल स्ट्राइक

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 October 2016, 11:32 IST
(एजेंसी)

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में चल रहे आतंकी कैंपों के बारे में सेना ने कहा है कि अगर आवश्यकता पड़ी तो हम दोबारा सर्जिकल स्ट्राइक कर सकते हैं. सेना की ओर से यह बात सांसदों की ब्रीफिंग में कही गई. सेना ने संसद की रक्षा स्थायी समिति को सेना की सर्जिकल स्ट्राइक से जुड़ी सभी जानकारियां दीं.

सेना ने नेताओं को बताया कि भारतीय फौज की टुकड़ी ने किस तरह लाइन ऑफ कंट्रोल पार करके सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया. सर्जिकल स्ट्राइक के सबूतों को लेकर चल रही बहस व राजनीति के दौरान इस ब्रीफिंग को काफी माना जा रहा है.

सियासी गलियारे में इस मामले में इतने तरह के प्रश्न खड़े हो गए थे कि अंततः सेना को सांसदों के समाने सर्जिकल स्ट्राइक की जानकारी साझा करनी पड़ा.

भारत में ऐसा पहली बार हुआ है कि जब सांसदों को सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में आधिकारिक तौर पर जानकारी दी गई है.

इससे पहले भारतीय डीजीएमओ ने बयान जारी कर पहली बार इस जवाबी हमले की सार्वजनिक घोषणा की थी. उसके बाद मोदी सरकार ने सर्वदलीय बैठक के जरिए सभी राजनीतिक दलों को इस बारे में बताया था.

इस मामले में उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल विपिन रावत ने संसदीय समिति को बताया कि कमांडो एक्शन के पहले इस बात की जानकारी मिली थी कि सीमा रेखा (एलओसी) के पार बने लॉन्च पैड्स पर आतंकवादी मौजूद हैं. आतंकियों का मकसद जम्मू-कश्मीर में कई जगहों पर हमला करना था.

विपिन रावत ने समिति को बताया कि भले ही भारत ने कार्रवाई के बाद पाकिस्तानी डीजीएमओ को जानकारी दी हो, लेकिन भविष्य के हालात पर बहुत कुछ निर्भर करेगा.

उन्होंने कहा, अगर पाकिस्तान अपनी जमीन का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों के लिए न होने देने का वादा पूरा नहीं करता तो सेना के द्वारा ऐसा कदम दोबारा उठाया जा सकता है.

First published: 15 October 2016, 11:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी