Home » इंडिया » army issue order to jawans if they travel through bihar they not carry liquor
 

सेना की जवानों को चेतावनी- 'बिहार से गुजरें, तो शराब से रहें दूर'

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 August 2016, 13:22 IST
(एजेंसी)

बिहार में नीतीश सरकार द्वारा इस साल अप्रैल से राज्य में पूर्ण मदिरा निषेध के मद्देनजर सेना ने अपने कार्यरत और पूर्व सैनिकों को एक एडवायजरी जारी करते हुए कहा है कि अगर वे यात्रा के दौरान बिहार की सीमा में प्रवेश कर रहे हैं, तो इस बात का विशेष ध्यान रखें कि उनके पास शराब न हो.

खबरों के मुताबिक बिहार में मदिरा निषेध के लागू होने के बाद हाल ही में कुछ सैनिकों को शराब के साथ गिरफ्तार किया गया था.

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए क्‍वार्टर मास्‍टर जनरल की ब्रांच के कैंटीन सर्विसेज डायरेक्‍टरेट ने सेना के सभी कमांड हेडक्‍वार्टर्स, अंडमान निकोबार कमांड, ऑर्डिनेंस फैक्‍ट्री बोर्ड, जनरल असम राइफल्‍स डायरेक्‍टरेट, नेवल हेडक्‍वार्टर्स, एयर हेडक्‍वार्टर्स और कोस्‍ट गार्ड हेडक्‍वार्टर्स को इस एडवायजरी से संबंधित पत्र लिखा है.

सेना ने जारी की एडवायजरी

इस पत्र में बताया गया है कि सेना के जो भी कार्यरत या पूर्व जवान बिहार की सीमा में प्रवेश कर रहे हैं या गुजर रहे हैं, तो उन्हें सलाह दी जाती है कि वो अपने साथ शराब न रखें. अन्यथा राज्य प्रशासन उन्हें मदिरा निषेध कानून के उलंघन के तहत गिरफ्तार कर सकता है.

वहीं इसके साथ ही सेना मुख्‍यालय की ओर से जारी दिशा-निर्देश में यह भी बताया गया है कि बिहार सरकार का यह आदेश मिलिट्री कैंटीन पर लागू नहीं होगा.

केवल दानापुर कैंटीन को छूट

हालांकि पत्र में इस बात का भी उल्लेख किया गया है कि इस मामले में केवल दानापुर कैंटीन को ही छूट प्राप्त है. वहीं बिहार के बाकी अन्य कैंटीनों को इस प्रकार की कोई छूट नहीं है. इसलिए सैन्‍य कर्मचारियों से कहा गया है कि वे दानापुर कैंटीन के बाहर न तो शराब पीएं और न लेकर जाएं.

गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत में हाजीपुर रेलवे स्‍टेशन पर एक कैप्‍टन को 22 बोतल शराब के साथ पकड़ा गया था. इसके बाद एक मामला भी दर्ज किया गया था.

गिरफ्तार किया गया जवान शिलॉन्‍ग से यह शराब लेकर आया था. वहां पर उसकी पोस्टिंग थी. एक अन्‍य मामले में जीआरपी ने एक जवान को जम्‍मू तवी-गुवाहाटी अमरनाथ एक्‍सप्रेस से गिरफ्तार किया था. उस जवान के बैग में शराब की बोतलें मिली थी.

First published: 26 August 2016, 13:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी