Home » इंडिया » Article 370 finish, Jammu and Kashmir to be a union territory with legislature, Ladakh without legislature
 

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म, अब नहीं होगा अलग झंडा और अलग संविधान

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 August 2019, 13:17 IST

जम्मू-कश्मीर को लेकर केंद्र की मोदी सरकार ने तीन बड़े फैसले किए हैं. मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले धारा 370 को हटाने की सिफारिश की है. इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के दो टुकड़े कर दिए हैं. मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दो अलग भागों में बांट दिया है.

इसके साथ इन दोनों क्षेत्रों को केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया है. मोदी सरकार के फैसले के बाद जम्मू-कश्मीर विधानसभा सहित केंद्र-शासित प्रदेश और लद्दाख बिना विधानसभा के केंद्र-शासित प्रदेश बन गया है. गृहमंत्री अमित शाह ने इसका ऐलान किया है.

इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर को धारा 370 के जरिए जो विशेषाधिकार मिले हुए थे, वह भी खत्म हो गए हैं. गृहमंत्री की ओर से जारी बयान में कहा गया कि वहां के लोगों की लंबे समय से मांग रही है कि लद्दाख को केंद्र शासित राज्य का दर्जा दिया जाए, जिससे यहां रहने वाले लोग अपने लक्ष्यों को हासिल कर सकें. 

जम्मू-कश्मीर में अब अलग संविधान नहीं रहेगा और अलग झंडा नहीं होगा. इस फैसले के बाद राज्यसभा में हंगामा मच गया है. कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने इसे संविधान की आत्महत्या बताया और जमीन पर बैठकर विरोध किया. इसके अलावा पीडीपी के सांसदों ने राज्यसभा में अपने कपड़े तक फाड़ डाले.

आपको बता दें कि मायावती की बहुजन समाज पार्टी ने मोदी सरकार के इस फैसले का समर्थन किया. इसके अलावा पीडीपी के सांसद ने संविधान की किताब फाड़ने की कोशिश की. जिसकी वजह से उन्हें राज्यसभा से बाहर कर दिया गया.

First published: 5 August 2019, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी