Home » इंडिया » Article 370: French foreign minister says Pakistan for solve Jammu And Kashmir issue bilaterally
 

पाकिस्तान ने फोन कर फ्रांस से मांगा था कश्मीर पर समर्थन, उधर से मिला ऐसा जवाब बोलती हो गई बंद

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 August 2019, 16:09 IST

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने को लेकर पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. वह दुनिया के अलग-अलग देशों से मध्यस्थता करने की मांग कर रहा है. इस बीच पाकिस्तान ने फ्रांस को फोन कर जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर मध्यस्थता की अपील की थी. लेकिन फ्रांस की तरफ से पाकिस्तान को सीधा जवाब मिला है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने फ्रांस को फोन कर कश्मीर पर समर्थन मांगा था. इस दौरान फ्रांस ने पाकिस्तान को संयम बरतने और सैन्य गतिविधियां कम करने की बात कही है. फ्रांस ने नसीहत देते हुए कहा कि तनाव बढ़ा सकने वाले कदमों से पाकिस्तान को दूर रहना आवश्यक है.

फ्रांस के विदेशी मामलों के मंत्री ज्यां-य्वेस ले ड्रियन ने पाकिस्तानी समकक्ष से बात के बाद फ्रांसीसी प्रवक्ता ने एक बयान जारी किया. इसमें बताया, "दोनों मंत्रियों ने कश्मीर के हालात का मुद्दा उठाया. ज्यां-य्वेस ले ड्रियन ने कश्मीर को लेकर फ्रांस का सतत रुख याद दिलाया. यह भारत और पाकिस्तान पर निर्भर करता है कि द्विपक्षीय राजनैतिक वार्ता के दायरे में रहकर विवाद को हल किया जाए, ताकि स्थायी शांति कायम हो सके."

इस मुद्दे पर आज बांग्लादेश ने भी पाकिस्तान को झटका दिया था और कहा था कि यह भारत का आंतरिक मुद्दा है. बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय ने कहा था, "बांग्लादेश इस बात पर कायम है कि भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को हटाया जाना भारत का आंतरिक मामला है. सिद्धांत के तौर पर बांग्लादेश ने हमेशा इस वात की वकालत की है कि क्षेत्रीय शांति तथा स्थिरता बनाए रखना तथा विकास सभी देशों की प्राथमिकता होना चाहिए."

सैफई मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का भूत आया सामने, 150 जूनियर डॉक्टर्स के मुंडवा दिए सिर

जम्मू-कश्मीर: ट्रंप ने फिर अलापा मध्यस्थता का राग, कहा- नरेंद्र मोदी से करूंगा बात

First published: 21 August 2019, 16:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी