Home » इंडिया » Article 370 situation normal in Jammu and Kashmir schools government offices opens from today
 

कश्मीर में पटती पर लौटने लगी जिंदगी, प्राइमरी स्कूल, सरकारी दफ्तर और टेलिफोन एक्सचेंज भी खुले

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 August 2019, 9:17 IST

जम्मू-कश्मीर के हालात धीरे-धीरे बेहतर होने लगे हैं. अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद कश्मीर में लगी पाबंदियां हटाई जा रही हैं. सोमवार से यहां प्राइमरी स्कूल, कुछ सरकारी दफ्तर और टेलिफोन एक्सचेंज खुल गए हैं. श्रीनगर में सोमवार को 190 स्कूल खुले हैं. जिन इलाकों में स्कूल खुले हैं उनमें लासजान, सांगरी, पंथचौक, नौगाम, राजबाग, जवाहर नगर, गगरीबाल, धारा, थीड, बाटमालू और शाल्टेंग शामिल हैं. इसके अलावा रैनवारी और ईदगाह इलाकों में भी कुछ स्कूल खुले हैं. बता दें कि रविवार को यहां के 50 थाना क्षेत्रों में ढील दी गई थी. साथ ही कई टेलिफोन एक्सचेंज भी खुले रहे.

हालांकि रविवार को पांच सूबे के पांच जिलों में 2 जी मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को एक बार फिर से बंद करना पड़ा. क्योंकि जम्मू से कुछ अफवाहें फैलने की खबर मिली थी. बता दें कि शनिवार को ही राज्य के कुछ इलाकों में टू जी मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल की गई थीं. अधिकारियों के मुताबिक, रविवार को अफवाहों को फैलने से रोकने और शांति बनाए रखने के चलते ये फैसला लिया गया था कि टू जी मोबाइल इंटरनेट सेवाएं को बंद कर दिया जाए.

पांच अगस्त को केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मरी को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को निष्क्रिय करने का फैसला लिया था. साथ ही राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विभाजित करने का एलान किया था. उसके बाद पूरे राज्य में धारा 144 लागू कर दी गई.

स्कूल-कॉलेजे, सरकारी दफ्तर, मोबाइल फोन, इंटरनेट और लैंड लाइन फोन की सेवाएं भी बंद कर दी गई थी. हालांकि बीते शुक्रवार और शनिवार की रात को जम्मू, सांबा, कठुआ, उधमपुर और रियासी जिलों में टू जी मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को बहाल किया गया था. हालांकि अब राज्य में सामान्य हालातों को देखते हुए पाबंदियों में ढील दी जाने लगी है.

AIIMS में अरुण जेटली की हालत बेहद नाजुक, वेंटिलेटर से हटाकर रखा गया ECMO सपोर्ट पर

First published: 19 August 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी