Home » इंडिया » Arun Jaitley health stable in Delhi AIIMS, Vice President Venkaiah Naidu Visits at AIIMS
 

अरुण जेटली की तबियत स्थिर, उपराष्ट्रपति नायडू ने AIIMS पहुंचकर जाना हालचाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 August 2019, 10:02 IST

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली की तबियत अभी स्थिर बनी हुई है. उन्हें दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया है. शनिवार सुबह उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू जेटली का हालचाल लेने पहुंचे. एम्स के डॉक्टरों से जेटली की सेहत के बारे में उपराष्ट्रपति को जानकारी दी. पूर्व वित्तमंत्री जेटली गहन चिकित्सा केंद्र में रखा गया है. जहां डॉक्टर उन पर लगातार निगरानी बनाए हुए हैं. एम्स की ओर से आज अरुण जेटली का हेल्थ बुलेटिन जारी किया जा सका है.

जेटली का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने उपराष्ट्रपति नायडू को बताया कि जेटली की सेहत पर इलाज का असर हो रहा है उनकी हालत स्थिर बनी हुई है. उपराष्ट्रपति ने वहां मौजूद जेटली के परिजनों से भी मुलाकात की. बता दें कि शुक्रवार को पूर्व वित्त मंत्री जेटली को घबराहट और कमजोरी की शिकायत के बाद दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया था. जेटली के एम्स में भर्ती कराने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला और बीजेपी के कई बड़े नेता भी जेटली का हाल-चाल लेने एम्स पहुंचे.

एम्स के एक सीनियर डॉक्टर के मुताबिक शुक्रवार को जेटली रुटीन चेकअप के लिए एम्स पहुंचे थे. जहां हृदय रोग विभाग में उनकी जांच की गई. प्राथमिक जांच के बाद चिकित्सकों ने उन्हें एडमिट होने की सलाह दी. उसके बाद एंडोक्रिनोलॉजिस्ट, नेफ्रोलॉजिस्ट और कार्डियोलॉजिस्ट की एक टीम जेटली की सेहत पर नजर रखे हुए है. जेटली के परिजन भी एम्स में मौजूद हैं.

बता दें कि पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली पिछले कुछ महीनों से बीमार चल रहे हैं. उन्हें सॉफ्ट टिशू कैंसर नाम की बीमारी है. इससे पहले पिछले साल जेटली को किडनी संबंधी बीमारी के बाद उनकी किडनी ट्रांसप्लांट की गई थी. किडनी की बीमारी के साथ ही वह कैंसर की चपेट में आ गएबीमारी के चलते पूर्व वित्तमंत्री जेटली ने खुद को मंत्रीमंडल में शामिल होने से इनकार कर दिया था. इसके लिए उन्होंने खुद एक पत्र लिखा था. जिसमें उन्होंने कहा था कि सेहत खराब होने की वजह से वह मंत्रिमंडल की जिम्मेदारी नहीं लेना चाहते.

First published: 10 August 2019, 10:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी