Home » इंडिया » Arun Jaitley says Demonetisation widened tax base and increase in volume of digital transactions.
 

जेटली ने नोटबंदी को फिर बताया सफल, गिनाए ये तीन बड़े फायदे

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 September 2017, 16:45 IST

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को एक बार फिर नोटबंदी को सफल बताया. उन्होंने कहा कि नोटबंदी की सफलता का वास्तविक पैमाना डिजिटल लेनदेन की मात्रा में बढ़ोतरी, कर दायरे का बढ़ना और उच्च मूल्य के नोटों के चलन में कमी आना है.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने कुछ दिन पहले यह खुलासा किया था कि नोटबंदी के बाद 99 प्रतिशत प्रतिबंधित नोट बैंकों में वापस आ गए जिसके बाद केंद्र सरकार द्वारा नवंबर 2016 में लिए गए इस फैसले की सफलता संदेह के घेरे में आ गई थी. 

 

जेटली ने गुगल के नए डिजिटल भुगतान एप 'तेज' को लांच करते हुए यहां कहा, "कुछ जमात में समझ की कमी है और वह नोटबंदी की सफलता केवल इससे मापते हैं कि कितना नोट बैंकों में पहुंचा."

गौरतलब है कि मोदी सरकार ने आठ नवंबर 2016 को पूरे भारत में नोटबंदी की घोषणा की थी. नोटबंदी के बाद देश में 500 और 1000 रुपये के नोट बैन कर दिए थे. सरकार ने दावा किया था कि इसके बाद देश में कालेधन की समस्या पर काफी हद तक रोक लग जाएगी.

सरकार के इस निर्णय से लोगों को फजीहत का सामना करना पड़ा था. उस समय देश में बैंको के बाहर लंबी- लंबी लाइने लगी थी. 

First published: 18 September 2017, 16:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी