Home » इंडिया » Arun Jaitley: When chargesheet is filed after investigation, then extradition has to be demanded
 

अरुण जेटली: चार्जशीट के बाद कर सकते हैं माल्या के प्रत्यर्पण की मांग

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST

शराब कारोबारी और बैंकों के नौ हजार करोड़ के कर्जदार विजय माल्या के प्रत्यर्पण की कोशिशों को झटका लगने के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राज्यसभा में बयान दिया. जेटली ने कहा कि सरकार ने प्रत्यर्पण की मांग रखी थी.

जेटली ने कहा कि बैंक अपना बकाया वापस लाने की कोशिश कर रहे हैं, एजेंसियां गड़बड़ी की जांच कर रही हैं, वहीं हमने ब्रिटेन से प्रत्यर्पण की गुजारिश की थी.

jaitley mallya

ब्रिटेन के कानून की दलील


जेटली ने राज्यसभा में कहा, "जहां तक मुझे पता है कि अगर कोई यूनाइटेड किंगडम (ब्रिटेन) में वैध पासपोर्ट के साथ प्रवेश करता है, लेकिन बाद में उसका पासपोर्ट रद्द हो जाता है, तो प्रत्यर्पण की इजाजत नहीं मिलती है."

जेटली ने इस दौरान कहा, "एक और वैकल्पिक प्रक्रिया है. जब इस मामले में जांच के बाद चार्जशीट दाखिल की जाएगी, उस वक्त दोबारा प्रत्यर्पण की मांग की जा सकती है."

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ब्रिटेन के कदम पर कोई हैरानी नहीं जताई. जेटली ने राज्यसभा में कहा कि इस तरह के मामलों में ब्रिटेन का पहले भी यही रुख रह चुका है.

jaitley mallya2

गौरतलब है कि ब्रिटेन सरकार ने 1971 के इमीग्रेशन कानून का हवाला देते हुए भारत को विजय माल्या का प्रत्यर्पण करने से मना कर दिया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बैंकों के नौ हजार करोड़ के कर्जदार विजय माल्या दो मार्च से लंदन में हैं.

First published: 11 May 2016, 12:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी