Home » इंडिया » Congress Government in Arunachal Pradesh may tumble, 43 Congress MLA's including CM Pema Khandu joined Peoples Party of Arunachal
 

फिर खतरे में अरुणाचल की कांग्रेस सरकार, सीएम खांडू समेत 43 विधायक पीपीए में शामिल

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 September 2016, 14:19 IST

अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस सरकार पर एक बार फिर खतरा मंडरा रहा है. एक बड़े सियासी घटनाक्रम के तहत कांग्रेस के 46 में से 43 विधायक पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल (पीपीए) में शामिल हो गए हैं.

सबसे अहम बात यह कि जिन 43 विधायकों ने कांग्रेस से बगावत करते हुए पीपीए का झंडा थामा है,उनमें वर्तमान मुख्यमंत्री पेमा खांडू भी शामिल हैं. 60 सदस्यों वाली अरुणाचल प्रदेश विधानसभा में कांग्रेस के 46 विधायक हैं, जबकि 11 विधायक बीजेपी के हैं.

बागियों में शामिल अरुणाचल के वर्तमान मुख्यमंत्री पेमा खांडू दिवंगत पूर्व सीएम दोरजी खांडू के बेटे हैं. खांडू ने कहा, "मैंने विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात करके उन्हें यह सूचना दी है कि हमने कांग्रेस का पीपीए में विलय कर दिया है."

जुलाई में संभाली थी सत्ता

पेमा खांडू ने जुलाई में ही सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राज्य की सत्ता संभाली थी. अदालत से अपने पक्ष में आदेश आने के बाद नबाम तुकी की जगह पेमा खांडू को मुख्यमंत्री बनाया गया.

खांडू के विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद दो निर्दलीयों और 45 पार्टी विधायकों के समर्थन से कांग्रेस ने एक बार फिर सरकार बना ली थी. सियासी उठापटक के बीच बागी नेता कालिखो पुल अपने 30 साथी विधायकों के साथ पार्टी में दोबारा लौट आए थे.

भाजपा के समर्थन से पुल बागी होकर राज्य के मुख्यमंत्री बने थे, जिन्हें सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सत्ता छोड़नी पड़ी थी. पिछले महीने पुल का शव उनके आवास पर पंखे से लटका मिला था.

नवंबर 2015 में पहली बगावत

इस नए सियासी घटनाक्रम के बाद एक बार फिर कांग्रेस सरकार पर तलवार लटक गई है. कांग्रेस में पहली बगावत नवंबर, 2015 में हुई थी.

इसके बाद से राज्य में सियासी उथलपुथल का दौर जारी है. उस समय कांग्रेस की सरकार गिर गई थी और कलिखो पुल की अगुवाई में नई सरकार बनी थी, जिसे भाजपा के 11 विधायकों ने अपना समर्थन दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने बाद में राज्यपाल के फैसलों को असंवैधानिक करार दिया था. जिसके बाद कांग्रेस सरकार की बहाली का रास्ता साफ हुआ था.

First published: 16 September 2016, 14:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी