Home » इंडिया » Arunachal pradesh crisis: Supreme Court refers case to Constitution bench
 

अरुणाचल संकट: सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ करेगी मामले की सुनवाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:47 IST

अरुणाचल प्रदेश की सियासी लड़ाई की सुनवाई अब सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ करेगी. गुरुवार को इस मामले की सुनवाई के दौरान जस्टिस खेहर की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने कहा कि ये मामला राज्यपाल, स्पीकर की शक्तियों को लेकर है. इसलिए इस मामले की सुनवाई दो जजों की खंडपीठ नहीं कर सकती.

यह सुनवाई विधानसभा स्पीकर पद से हटाए गए नबाम राबिया की याचिका पर हुई है. मामला अब सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर के पास है. जल्द ही चीफ जस्टिस इस मामले में संवैधानिक पीठ का गठन करेंगे. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को अरुणाचल प्रदेश विधानसभा की कार्रवाई पर 18 जनवरी तक रोक लगा दी है.

अरुणाचल का राजनीतिक संकट पिछले साल दिसंबर में महीने में शुरु हुआ था. बागी कांग्रेस विधायकों ने बीजेपी विधायकों मिलकर मुख्यमंत्री नबाम तकी को पद से हटाने का निर्णय कर लिया. तकी की जगह कांग्रेस के असंतुष्ट विधायकों ने कलिखो पुल को राज्य का नया मुख्यमंत्री चुना.

उस समय गुवाहाटी हाईकोर्ट ने राज्यपाल जेपी राजखोवा से नाराजगी जताते हुए राज्य विधानसभा द्वारा लिए गए सभी फैसलों पर रोक लगा दी थी. जिसमें विधानसभा अध्यक्ष नबाम राबिया को हटाने का निर्णय भी शामिल है. इस मामले में राज्यपाल की भूमिका को लेकर कांग्रेस राष्ट्रपति से उन्हें हटाने का अनुरोध भी कर चुकी है.

First published: 14 January 2016, 8:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी