Home » इंडिया » Arundhati Bhattacharya: RBI change rule due to people behavior
 

अरुंधति भट्टाचार्य: फरवरी के अंत तक देश को मिलेगी नोटबंदी से राहत

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 December 2016, 10:18 IST
(पीटीआई)

नोटबंदी के 44 दिन बाद देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक की प्रमुख अरुंधति भट्टाचार्य ने कहा है कि आने वाले फरवरी के अंत तक ही पूरे देश में हालात पूरी तरह सामान्य हो जाएंगे.

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की प्रमुख अरुंधति भट्टाचार्य ने एक निजी समाचार चैनल के साथ बात करते हुए कहा कि इन 44 दिनों में लोगों के बदलते व्यवहार के कारण रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) को बार-बार अने नियमों में बदलाव करने पड़े.

उन्होंने कहा कि डिमोनेटाइजेशन (विमुद्रीकरण) का कोई रोडमैप नहीं है. इससे पहले साल 1978 में इस तरह का फैसला हो चुका है.

भट्टाचार्य ने कहा कि डिमोनेटाइजेशन के बाद लोग किस तरह बर्ताव करेंगे, परिस्थिति किस तरह बदलेगी, इसका किसी को अंदाजा नहीं था. इसीलिए आरबीआई को बार-बार नियम बदलने पड़ रहे हैं.

इसके लिए उन्होंने उदारहण देते हुए समझाया कि जब चार हजार रुपए बदलने का नियम लागू किया गया तो एक ही आदमी बार-बार बदलने के लिए आने लगा. जिसके कारण ऊंगली पर स्याही लगाने का नियम बनाना पड़ा.

अरुंधति भट्टाचार्य के अनुसार सिस्टम के दुरुपयोग होने की स्थिति में नियम को बदलने की जरूरत रहती है. गौरतलब है कि 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा के बाद से रिजर्व बैंक अब तक 60 बार नियम बदले हैं.

First published: 24 December 2016, 10:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी