Home » इंडिया » Asaduddin Owaisi answered on Sangeet Som statement, Will PM Modi not use Lal Quila for flag hosting ceremony
 

ओवैसीः क्या पीएम मोदी नहीं फहराएंगे गद्दारों के बनाए लाल किले से झंडा

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 October 2017, 13:08 IST

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक संगीत सोम के ताजमहल को लेकर दिए गए विवादित बयान के बाद एआईएमआईएम के अध्यक्ष असुद्दीन ओवैसी ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. ओवैसी ने कहा कि अब क्या प्रधानमंत्री मोदी लाल किले से राष्ट्रीय ध्वज फहराना बंद कर देंगे.

संगीत सोम के 'गद्दारों' द्वारा ताजमहल बनाए जाने के बयान पर हैदराबाद के सांसद ओवैसी ने कहा कि यह बहुत आश्चर्यजनक है कि जिसने संविधान की शपथ ली है, वह अहंकार और अज्ञानता से बात कर रहा है.

ओवैसी ने पत्रकारों से कहा, "अगर वह जो कह रहे हैं वह सही है तो प्रधानमंत्री फिर क्यों लालकिले जाकर झंडा फहराते हैं क्योंकि लाल किला भी गद्दारों ने बनाया था."

उन्होंने सरकार को चुनौती दी कि वह यूनेस्को से ताजमहल को धरोहर की सूची से बाहर निकालने और विदेशी पर्यटकों को ताजमहल नहीं देखने के लिए कहे.

ओवैसी ने कहा कि मोदी को विदेशी मेहमानों से हैदराबाद हाउस में मिलना बंद कर देना चाहिए क्योंकि इसे भी 'गद्दारों' ने बनाया था.

उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता ऐसे मुद्दे उठाकर लोगों को ध्यान भटकाना चाहते हैं क्योंकि सरकार नौकरी देने, आतंकवाद और चीन से निपटने, नोटबंदी व जीएसटी के बाद जनता को हो रही परेशानियों से निपटने में विफल रही है.

गौरक्षकों की ओर से लगातार किए जा रहे हमलों पर उन्होंने चिंता जताते हुए कहा कि इस मामले पर मोदी का बयान केवल एक दिखावटी बात थी.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अयोध्या में श्री राम की विशाल मूर्ति का निर्माण करवाने के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि यह सर्वोच्च न्यायालय के उस आदेश का उल्लंघन है जिसमें कहा गया था कि सार्वजनिक धन का प्रयोग पूजा स्थल के निर्माण और रखरखाव के लिए खर्च नहीं किया जा सकता.

सरकार को अपना ध्यान अस्पतालों की दशा सुधारना में लगाना चाहिए, जहां ऑक्सीजन आपूर्ति नहीं करने की वजह से कई बच्चों की मौत हो गई थी.

First published: 17 October 2017, 13:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी