Home » इंडिया » Asaram Bapu claims to be neither saint nor preacher, says he belongs to the 'category of donkeys.
 

आसाराम: न मैं संत हूं न कथावाचक, मैं तो गधा हूं

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 September 2017, 10:30 IST

नाबालिग लड़की से रेप के आरोप में जेल में बंद आसाराम बापू ने एक बार फिर अजीबोगरीब बयान दिया है. आसाराम ने पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि, 'न मैं संत हूं न कथावाचक, मैं तो गधा हूं.'

दरअसल आसाराम गुरुवार को जोधपुर की अदालत में पेश होने आए थे. इसी दौरान एक अखबार के पत्रकार ने उनसे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा उन्हें फर्जी बाबा घोषित करने को लेकर सवाल पूछा. इसी पर आसाराम भड़क गए और कहा कि वो गधे की श्रेणी में आते हैं.

गौरतलब है कि रविवार को अखिल अखाड़ा परिषद द्वारा जारी की गई फर्जी बाबाओं की लिस्ट में आसाराम व उसके बेटे नारायण साईं का नाम भी शामिल था. अखिल भारतीय परिषद द्वारा लिस्ट जारी करने के बाद बुधवार को जब वो पेशी के लिए अदालत जा रहे थे तब भी पत्रकारों ने उनसे इस पर प्रतिक्रिया मांगी थी.

आसाराम उस समय चुप रहे थे और कोई जवाब नहीं दिया था. हालांकि, कोर्ट से बाहर निकलते समय यह जरूर कहा था 'मैं कोई बहाना नहीं कर रहा हूं, मेरी तबीयत ठीक नहीं थी. इसी वजह से कुछ नहीं बोला. आज ठीक हूं तो बोल रहा हूं.'  गौरतलब है कि कथित धर्म गुरू आसाराम बीते चार वर्षों से जोधपुर की जेल में है.

First published: 15 September 2017, 10:30 IST
 
अगली कहानी