Home » इंडिया » asaram ujjain asaram ujjain kumbh mela
 

उज्जैन: आसाराम के आश्रम पर साधुओं का कब्जा, गंगाजल से शुद्धिकरण

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2016, 11:20 IST

उज्जैन में सिंहस्थ कुंभ से एक दिन पहले आसाराम के आश्रम में तोड़फोड़ की गई. निर्मोही अखाड़े के साधु-संतों ने मंगलनाथ रोड पर बने आसाराम के आश्रम को निशाना बनाया.

साधुओं के जत्थे ने वहां लगे आसाराम के पोस्टर फाड़ डाले और उसके बाद आश्रम का गंगाजल से शुद्धिकरण किया.

बताया जा रहा है कि उज्जैन प्रशासन ने महाकुंभ के लिए आसाराम के आश्रम की जमीन निर्मोही अखाड़े को दी थी, लेकिन आसाराम के समर्थकों ने जमीन खाली नहीं की. 

पढ़ें: गुजरात पुलिस: आसाराम ने रची थी गवाह को मरवाने की साजिश

जिसके बाद गुस्साए निर्मोही अखाड़े के संतों ने आश्रम पर कब्जे के लिए धावा बोल दिया और आश्रम में आसाराम से जुड़ी हर चीज को तोड़ दिया.

निर्मोही अखाड़े का आश्रम पर कब्जा


घटना के बाद निर्मोही अखाड़े के संत भगवन दास का कहना है' "हमें आश्रम प्रशासन द्वारा आवंटित किया गया था, लेकिन आसाराम के समर्थक उसे खाली नहीं कर रहे थे. इसके बाद हमने कब्जे का फैसला किया."

संत भगवन दास की बातों को ही आगे बढ़ाते हुए निर्मोही अखाड़े के एक दूसरे संत बजरंग दास ने कहा कि आसाराम जैसा भ्रष्ट कोई संत नहीं है. उस पर रेप का केस चल रहा है. 

वहीं दूसरी ओर संतों की इस कार्रवाई को आसाराम के समर्थकों ने गलत बताया है.

आसाराम आश्रम के संचालक राम का कहना है कि प्रशासन ने हमको 31 तारीख तक आश्रम खाली करने की मोहलत दी थी, लेकिन निर्मोही अखाड़े ने समय सीमा से पहले आश्रम पर कब्जा कर लिया.

नाबालिग छात्रा से यौन शोषण के आरोप में करीब ढाई साल से आसाराम जोधपुर की सेंट्रल जेल में बंद हैं.

First published: 21 April 2016, 11:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी