Home » इंडिया » Assam: Big decision of BJP government, all madrasas will be closed
 

असम : BJP सरकार का बड़ा फैसला, सभी सरकारी मदरसों को किया जाएगा बंद

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 February 2020, 10:48 IST

Assam Madarsa: असम की भारतीय जनता पार्टी सरकार एक बड़ा फैसला लेने जा रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, असम सरकार ने राज्य में संचालित सभी सरकारी मदरसों और संस्कृत विद्यालयों को बंद करने का निर्णय लिया है. सरकार ने फैसला किया है कि राज्य में चल रहे सभी सरकारी धार्मिक स्कूलों को चार से पांच महीनों के भीतर नियमित हाई स्कूलों और उच्चतर माध्यमिक स्कूलों में बदला जाएगा.

इस बाबत राज्य के शिक्षा मंत्री हेमंत बिस्व शर्मा ने मीडिया के सामने घोषणा की. शिक्षा मंत्री ने कहा  कि सरकारी स्कूलों में धर्म, धार्मिक शास्त्र, अरबी और अन्य भाषाओं को पढ़ाना सही नहीं है. यह सरकार का काम नहीं है.

इसके आगे उन्होंने कहा कि यदि कोई अपने पैसे खर्च करके धर्म सिखा रहा है तो सरकार को कोई समस्या नहीं है. लेकिन यदि कुरान पढ़ाने के लिए राज्य का पैसा खर्च हो रहा है तो हमें गीता, बाइबिल भी सिखाना होगा. इसलिए सरकार ने निर्णय लिया है कि राज्य में संचालित सरकारी मदरसों, उच्च मदरसों और संस्कृत टोल को जल्द ही नियमित स्कूलों में परिवर्तित किया जाएगा.

हालांकि शिक्षा मंत्री ने यह भी साफ किया है कि केवल सरकारी संचालित धार्मिक स्कूलों को बंद किया जा रहा है. इसका मतलब यह है कि जो मदरसे मस्जिदों द्वारा चलाए जाते हैं, उनपर इनका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. इसके अलावा गैर-सरकारी संगठनों आदि द्वारा संचालित संस्कृत विद्यालय भी इस कदम से प्रभावित नहीं होंगे.

शिक्षा मंत्री ने यह भी बताया कि मदरसों और संस्कृत टोलों में काम करने वाले शिक्षक भी अपनी नौकरी से नहीं चूकेंगे. यानि कि धार्मिक विषयों को पढ़ाने वाले शिक्षकों को सरकार घर बैठे ही सेवानिवृत्त होने तक वेतन देगी. उन्हें स्कूलों में कुछ भी पढ़ाने की आवश्यकता नहीं होगी. इसके अलावा अन्य विषयों के शिक्षक परिवर्तित स्कूलों में अपने विषय पढ़ाना जारी रखे सकेंगे.

योगी सरकार का बड़ा तोहफा, छोटी बस्तियों में रहने वालों लोगों को अब मिलेंगी शहरी सुविधाएं

Coronavirus का खौफ, 50000 लोग चपेट में, आपको भी आया है बुखार तो तुरंत कराएं चेकअप

First published: 13 February 2020, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी