Home » इंडिया » Elephant died in Ramdev's herbal park, FIR registered
 

असम: रामदेव के हर्बल पार्क के गढ्ढे में गिरने से हाथी की मौत, FIR दर्ज

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:19 IST
(एएनआई)

योगगुरू रामदेव के असम स्थित पतंजलि हर्बल पार्क के गढ्ढे में गिरने की वजह से एक हाथी की मौत हो गई है. इस संबंध में वन विभाग ने पतंजलि मेगा हर्बल एवं फूडपार्क पर लापरवाही और निर्माण स्थल पर गड्ढा खोदने की वजह से गुरुवार को एक हाथी की मौत के लिए शुक्रवार को प्राथमिकी दर्ज कराई.

पश्चिमी सोणितपुर वन संभाग के अतिरिक्त वन संरक्षक जसीम अहमद ने कहा कि प्राथमिकी तेजपुर थाने के अंतर्गत सलानीबाड़ी थाना में दर्ज की गई.

जसीम अहमद ने कहा कि पार्क के निर्माणकर्ता उदय गोस्वामी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया. उन्होंने कहा कि 14 से अधिक गड्ढे हैं और उनमें से कुछ को मिट्टी से भर दिया गया है जब वन मंत्री प्रमिला रानी ब्रह्मा ने कल एक वयस्क मादा हाथी की मौत के बाद स्थल का दौरा किया.

पतंजलि के हर्बल पार्क में हथिनी की गड्ढे में गिरने के बाद का वीडियो भी रिकॉर्ड हुआ था. उसमें दिखाया गया था कि हथिनी का एक बच्चा उसकी मौत के बावजूद उसे छोड़कर जाने को तैयार नहीं था. वह अपनी मां के साथ ही बैठा रहता है और उसे उठाने की कोशिशों में लगा रहता है.

खबरों के मुताबिक, हथिनी और उसके कुछ बच्चे वहां से होकर गुजर रहे थे. उसी दौरान हथिनी और उसके दो बच्चे गड्ढे में गिर गए. एक बच्चा तो किसी तरह निकल गया. हथिनी को गड्ढे में गिरने के 19 घंटे बाद तक नहीं निकाला जा सका था. आखिरकार उसकी मौत हो गई.

गौरतलब है कि वन मंत्री ने इस घटना से पूर्व ही पार्क के निर्माणकर्ता को स्पष्ट निर्देश दिए थे कि 200 एकड़ की जगह का आधे हिस्से पर उसे कोई निर्माण कार्य नहीं करना है, जिससे वहां पर हाथी आराम से रह सके.

असम में पतंजलि मेगा हर्बल एवं फूडपार्क की नींव 6 नंवबर को मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने रखी थी. उस मौके पर पतंजलि के फाउंडर बाबा रामदेव, केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो समेत कई मंत्री पहुंचे थे.

First published: 26 November 2016, 11:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी