Home » इंडिया » Assam: Names of two MLAs missing from final National Register of Citizens draft
 

असम के NRC ड्राफ्ट से दो विधायकों के नाम भी गायब, मांगा जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 August 2018, 13:00 IST
(Facebook )

असम के नागरिकों के लिए बनाये गए एनआरसी ड्राफ्ट पर विवाद ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहा है. अब इस ड्राफ्ट में दो विधायकों के नाम शामिल नहीं होने की खबर आयी है. भारतीय जनता पार्टी के मोरीगांव के विधायक रामकांत देवरी और अखिल भारतीय यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट अब्यापुरी के विधायक अनंत कुमार मालो के नाम मसौदे दस्तावेज पर नहीं है.

सोमवार को असम सरकार द्वारा प्रकाशित मसौदे में लगभग 40 लाख लोगों को बाहर कर दिया गया है. देवरी ने कहा कि यह किसी ऐसे व्यक्ति के लिए शर्मनाक था जो जानता है कि वह दस्तावेज का हिस्सा बनने के लिए आवेदन करने वालों में है.

टाइम 8 समाचार चैनल ने देवरी के हवाले से कहा, "जिन लोगों को अपनी नागरिकता की स्थिति के बारे में संदेह था, वे एनआरसी के लिए आवेदन करते थे, मैं मिट्टी का बेटा हूं और मुझे अपनी नागरिकता साबित करने की आवश्यकता महसूस नहीं होती है."

उन्होंने कहा "मुझे लगता है कि स्वदेशी समुदायों और जनजातियों को यह साबित करने की जरूरत नहीं है कि वे यहां के नागरिक हैं." दूसरी ओर मालो ने कहा कि उन्हें विश्वास था कि उनका नाम सूची में होगा " दूसरी ओर कचर दिलीप पॉल के भाजपा विधायक की पत्नी अर्चना पॉल का नाम, पूर्व कांग्रेस विधायक अताउर रहमान मज़ारभाईया और का नाम भी मसौदे से गायब हैं.

यही नहीं पूर्व राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद के परिवार के सदस्यों को भी सूची से बाहर रखा गया है. शर्तों के अनुसार, कोई भी जो साबित नहीं कर सका कि वे या उनके पूर्वजों ने 24 मार्च 1971 को मध्यरात्रि से पहले राज्य में प्रवेश किया था, उन्हें विदेशी घोषित किया जाएगा.

ये भी पढ़ें : NRC पर बांग्लादेश ने 40 लाख लोगों से पल्ला झाड़ा कहा- अपना मसला खुद सुलझाए भारत !

First published: 1 August 2018, 13:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी