Home » इंडिया » Atal Bihari Vajpayee Critical in AIIMS hospital, had fond of eating food of different varieties
 

अटल बिहारी वाजपेयी थे लज़ीज खाने के शौकीन, ठंडाई पीने के लिये की तांगे की सवारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 August 2018, 14:39 IST

अटल बिहारी वाजपेयी का व्यक्तित्व किसी परिचय का मोहताज नहीं है. लेकिन उनसे जुड़ी कुछ ऐसी रोचक बाते ऐसी भी हैं जिसे सभी नहीं जानते होंगे. प्रखर वक्ता कहे जाने वाले वाजपेयी खाने के खाफी शौक़ीन रहे हैं. लज़ीज पकवानों से वाजपेयी को ख़ास लगाव रहा है. उनके खाने से जुड़े किस्सों के बारे में बात करे तो ग्वालियर के बहादुरा के बूंदी के लड्डू और दौलतगंज की मंगौड़ी का जिक्र जरूर आता है. ग्वालियर की गलियों में पले-बढ़े वाजपेयी वहां के स्वादिष्ट पकवानों से हमेशा जुड़े रहे.

नॉन वेग में वाजपेयी की पसंदीदा डिश 'झींगा मछली' है. इसके साथ ही उन्हें प्रॉन डिशेस भी बहुत पसंद हैं. इतना ही नहीं भांग और उत्तर प्रदेश से उनका ख़ास नाता रहा है. वाजपेयी के लिए भांग खासतौर पर उज्जैन से आती थी.

इस बारे में एक वाक़्या याद करते हुए मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल बाते हैं कि जब वो नेता प्रतिपक्ष थे तो इंदौर से उज्जैन का सफर उन्होने कार से तय किया. उज्जैन में अटल जी ने उन्हें मंदिर ले जाने की इच्छा जताई थी.

गौर ने इस घटना का जिक्र करते हुए बताया, "अटल जी ने कहा तांगे में ले चलो कार में नहीं. कोई देख ना पाए. बंद तांगे होते हैं. कहने लगे भांग का घोंटा तीन गिलास ले आओ. दो गिलास मैं पीयूंगा और बादाम-किशमिश डाल दो. एक गिलास तुम पीना. मस्त आदमी, बहुत बड़े दिल के आदमी. उनसे हंसी-मजाक कुछ भी कर सकते थे आप. इतना बड़ा आदमी आज हिन्दुस्तान में कोई नहीं है."

प्रधानमंत्री बनने के बाद भी अटल बिहारी वाजपेयी का ताल्लुक ग्वालियर के हलवाई के लड्डू से नहीं टूटा. ठंडाई के बेहद शौक़ीन अटल बिहारी वाजपेई का ठंडाई प्रेम काफी चर्चित रहा. 

First published: 16 August 2018, 14:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी