Home » इंडिया » Atal Bihari Vajpayee passes away mortal wrapped in tricolor
 

तिरंगे मे लिपटा अटल बिहारी वाजपेयी का पार्थिव शरीर, अार्मी-नेवी-वायुसेना ने दी श्रद्धांजलि

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 August 2018, 21:21 IST

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जिंदगी और मौत की जंग हार गए हैं. उनके पार्थिव शरीर को तिंरगें में लपेटा गया है. वह तीन बार देश के प्रधानमंत्री थे. उनकी तबीयत को लेकर पिछले काफी समय से बेचैनी थी. आज शाम 5 बजकर पांच मिनट पर अटल जी ने एम्स में अंतिम सांस ली है. उनकी मौत के बाद देश भर में शोक की लहर दौड़ गई.

अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि भारत की राजनीति का ध्रुवतारा नहीं रहा. उन्होंने कहा कि उनके निधन से पूरा देश गमगीन है. अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि कृष्णा मेनन मार्ग स्थित आवास पर सुबह साढ़े सात बजे से साढ़े आठ बजे तक अटल बिहारी वाजपेयी के अंतिम दर्शन किए जा सकेंगे.

बता दें कि वाजपेयी को 11 जून 2018 को एम्स में भर्ती कराया गया था और डॉक्टरों की निगरानी में पिछले 9 हफ्ते से उनकी हालत स्थिर बनी हुई थी. लेकिन पिछले 36 घंटों में उनकी तबीयत तेजी से बिगड़ी और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया था. हालांकि तमाम कोशिशों के बावजूद देश ने आज राजनीति का अजात शत्रु खो दिया. 

पढ़ें- अलविदा अटल: अमित शाह ने कहा- भारतीय राजनीति के आकाश का ध्रुवतारा नहीं रहा

इससे पहले अटल जी के निधन पर बीजेपी के बड़े नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि यह मेरा व्यक्तिगत नुकसान है. उन्होंने कहा कि अटल पिछले 65 सालों से उनके सबसे करीबी दोस्त थे और अब वह उन्हें बहुत याद करेंगे. उन्होंने कहा, "आज अपने गहरे दुख और उदासी को व्यक्त करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं है, हम सभी भारत के सबसे बड़े नेता अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक व्यक्त करते हैं. अटलजी मेरे लिए वरिष्ठ सहयोगी से अधिक थे. असल में वह पिछले 65 सालों से मेरे सबसे करीबी दोस्त थे,"

First published: 16 August 2018, 21:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी