Home » इंडिया » Atal Bihari Vajpayee rapped Narendra Modi over Rajdharma after Gujrat riots
 

Video: जब अटल बिहारी वाजपेयी ने नरेंद्र मोदी को दी थी 'राजधर्म' निभाने की सीख और फिर..

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 August 2018, 15:54 IST

अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत नाजुक स्थिति में पहुंच गई है. उन्हें एम्स में लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है. एम्स ने उनका मेडिकल बुलेटिन जारी कर बताया है कि दुर्भाग्यवश अटल बिहारी वाजपेयी की हालत ज्यादा बिगड़ गई है और उनकी हालत नाजुक है. पीएम मोदी ने आज दोपहर में एक बार और एम्स पहुंचकर पूर्व पीएम का हाल-चाल लिया. इसके बाद वह निकल गए.

आपको बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच बेहद ही नजदीकी रिश्ता था. नरेंद्र मोदी जब बीजेपी के एक छोटे कार्यकर्ता थे तब अटल जी उनसे मिलते ही गले लगा लिया करते थे. लेकिन साल 2002 में गुजरात में हुए दंगे के बाद तत्कालीन पीएम अटल बिहारी ने मीडिया के सामने राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री रहे नरेंद्र मोदी को राजधर्म निभाने की नसीहत दी थी.

 

2002 दंगों में गुजरात में सैकड़ों लोग मारे गए थे. इसके बाद पूरे देश में गुजरात के मोदी सरकार की किरकिरी हो रही थी. साथ ही केंद्र की अटल सरकार की भी खूब किरकिरी हो रही थी. केंद्र सरकार पर गुजरात की सरकार को हटाने का दबाव बढ़ता जा रहा था. इसके बाद अटल बिहारी वाजपेयी ने गुजरात का दौरा किया था. उन्होंने दंगा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के बाद मीडिया का संबोधित किया था. गुजरात दौरे पर मीडिया को संबोधित करते हुए अटल जी ने मुख्यमंत्री मोदी को राजधर्म निभाने के लिए कहा था.

पढ़ें- Video: जब अटल बिहारी वाजपेयी ने नरेेंद्र मोदी को मारने के लिए उठाया था हाथ और फिर...

अटल बिहारी ने मीडिया के होते हुए भी ये बात कह दी थी. वे राजधर्म के बारे में कुछ और कह पाते तब तक उनके बाईं ओर बैठे मोदी ने बीच में टोकते हुए कहा था, "साहब हम राजधर्म का पालन कर रहे हैं." इस पर अटल जी ने भी तुरंत हामी भरते हुए कहा था, "नरेंद्र भाई राजधर्म का पालन कर रहे हैं. मुझे पूरे उम्मीद है."

पढ़ें- जब अटल बिहारी ने कहा- मौत से ठन गई... हार नहीं मानूंगा, रार नहीं ठानूंगा

तब अटकलें थीं कि अटल बिहारी वाजपेयी दिल्ली से मन बनाकर गए थे कि नरेंद्र मोदी को गुजरात की गद्दी से हटाना है. राजनीतिक हलकों में यह खबर तेजी से फैली थी कि अटल जी मोदी से बेहद नाराज हैं और उन्हें गुजरात के मुख्यमंत्री पद से हटाना चाहते हैं. लेकिन तभी कहा जा रहा था कि अटल जी के गुस्से से मोदी को बचाने के लिए लालकृष्ण आडवाणी ढाल बनकर खड़े हो गए थे और उन्होंने मोदी का जीवनदान दिलवाया था.

First published: 16 August 2018, 15:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी