Home » इंडिया » Athletics Federation of India counter on Golden girl Hima Das on English after Semifinal
 

'स्वर्ण बेटी' हिमा दास का एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने अंग्रेजी न आने पर किया अपमान

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 July 2018, 9:01 IST

देश की 18 वर्षीय एथलीट हिमा दास ने इतिहास रच दिया है. हिमा ने एक दिन पहले (13 जुलाई) फिनलैंड के टैम्पेयर शहर में आयोजित IAAF विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप की 400 मीटर दौड़ में गोल्ड मेडल जीता है. इस दौड़ को पूरा करने में उन्‍हें 51.46 सेकंड लगे. हिमा की जीत का जश्न पूरा देश मना रहा है.

वहीं एक ऐसी खबर सामने आई है जिसे सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे. खबर है कि फाइनल में जाने से पहले एथेलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने हिमा दास का सिर्फ इसलिए अपमान किया था क्योंकि हिमा को अंंग्रेजी बोलनी नहीं आती थी. दरअसल, हिमा के सेमीफाइनल जीतने के बाद एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से एक एक ट्वीट किया गया था. इस ट्वीट में फेडरेशन ने हिमा को उनकी खराब इंग्लिश के चलते घेरा था.

फेडरेशन की तरफ से जारी इस ट्वीट में लिखा था, "सेमीफाइनल में जीत दर्ज करने के बाद हिमा दास ने मीडिया से बातचीत की. इंग्लिश अच्छी नहीं है, फिर भी अपना बेस्ट दिया. फाइनल में और ज्यादा अच्छा करने की कोशिश करना."

पढ़ें- वर्ल्ड जूनियर एथलेटिक्स: गोल्ड जीत हिमा ने रचा इतिहास, बनीं स्वर्ण जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी

हिमा दास की अंग्रेजी पर तंज कसने वाली एएफआई को शायद प्रतिभाशाली खिलाड़ियों से ज्यादा अच्छी अंग्रेजी बोलने वालों की जरूरत है. लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि हिमा को इंग्लिश का पाठ पढ़ाने वाले फेडरेशन के अधिकारियों को खुद अंग्रेजी नहीं आती. दरअसल इस ट्वीट में एक जगह स्पीकिंग शब्द का इस्तेमाल किया गया है, जिसकी स्पैलिंग 'speking' लिखी गई है. हालांकि फेडरेशन ने अपने इस ट्वीट के लिए माफी मांग ली है.

First published: 14 July 2018, 8:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी