Home » इंडिया » audio tape of Mukul Roy and Kailash Vijayvargiya, which is now becoming viral in Bengal
 

मुकुल रॉय के साथ बड़े BJP नेता का कथित ऑडियो टेप बंगाल में फिर हो रहा है वायरल

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 February 2019, 16:32 IST

बंगाल में चल रहे घमासान के बीच एक ऑडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. इस ऑडियो क्लिप को वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने ट्विटर पर शेयर किया है. उन्होंने लिखा ‘चिट फंड घोटाले में मुख्य आरोपी और भाजपा में शामिल होने वाले मुकुल रॉय की बंगाल भाजपा प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय से बातचीत सुनिए. जिसमे वह विजयवर्गीय को सलाह दे देते सुने जा रहे हैं. भूषण ने लिखा अधिकारियों पर दबाव डालने के लिए अमित शाह से कहकर सीबीआई, आईटी और ईडी का इस्तेमाल कर रही है.

पश्चिम बंगाल की राजनीति में तब हलचल मच गई जब एक ऑडियो क्लिप सोशल मीडिया में वायरल होने लगी. वह ऑडियो क्लिप एक टेलीफोन-संवाद है, बंगाली अख़बार आनंद बाजार पत्रिका के अनुसार इसमें एक आवाज़ स्पष्ट रूप से भाजपा के अखिल भारतीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की आवाज से मिलती है. जबकि अन्य व्यक्ति मुकुल रॉय माने जा रहे हैं.

अक्टूबर 2018 में प्रकशित रिपोर्ट के अनुसार उस क्लिप की सच्चाई का सत्यापन नहीं किया गया है, कैच न्यूज़ इसकी पुष्टि नहीं करता है लेकिन अख़बार के अनुसार मुकुल रॉय ने स्वीकार कर लिया यह कैलाश के साथ यह उनकी बातचीत है. उन्होंने शिकायत की कि उनका फोन टेप किया जा रहा है. इसमें मुकुल रॉय कैलाश विजय वर्गीय से कहते हैं कि ''चार IPS हैं, उनपे CBI को थोड़ा नज़र डालना होगा. इसमें अगर एक बार ध्यान देंगे, तो यह IPS लोग डर जायेंगे''

टेलिफोन वार्तालाप को स्पष्ट रूप से समझा जाता है. इसमें मुकुल रॉय भाजपा के बंगाल प्रभारी कैलाश विजय वर्गीय से कहते हैं कि बंगाल में चार आईपीएस अधिकारियों पर कार्र्रवाई करनी चाहिए और उन्हें भयभीत करने के लिए केंद्र के दो अधिकारियों का तबादला करके बंगाल लाना चाहिए.

विजयवर्गीय जो पश्चिम बंगाल के पार्टी प्रभारी हैं, ने दावा किया कि ऑडियो क्लिप नकली था उन्होंने कहा “यह एक फर्जी रिकॉर्डिंग है. बातचीत में पता चला है कि मुकुल बाबू एक तृणमूल सांसद को तोड़ रहे हैं. बातचीत की शुरुआत विजयवर्गीय मटुआ समाज की एक महिला सांसद के बारे में पूछ रहे हैं. मुकुल रॉय हिंदी बोलने में बहुत कमजोर हैं. उन्होंने कैलाश से कहा, “महिला ममता ठाकुर (जमीनी स्तर) की नेता हैं और उन्हें अपने पक्ष में करने का प्रयास जारी हैं.

ममता बनाम CBI : SC का आदेश- CBI के सामने पेश हो राजीव कुमार, नहीं होगी गिरफ्तारी

First published: 5 February 2019, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी