Home » इंडिया » Ayodhya: A priest and 15 policemen test COVID-19 positive before Bhoomi Pujan ceremony
 

अयोध्या : भूमि पूजन समारोह से पहले पुजारी और 15 पुलिसकर्मी पाए गए COVID-19 पॉजिटिव

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2020, 15:58 IST

Ayodhya : अयोध्या में राम मंदिर स्थल पर भूमि पूजन से पहले एक पुजारी और 15 पुलिसकर्मी कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए हैं.  मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अन्य लोगों के भी सैंपल लिए गए हैं. अयोध्या में अगले सप्ताह मंदिर के लिए भूमिपूजन समारोह का आयोजन होना है. इस समारोह में 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल होने वाले हैं, जिसके लिए दिवाली जैसी तैयारियां की जा रही हैं. श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट ने देश भर के सभी संतों से अपील की है कि वे अपने संबंधित मंदिरों और मठों में 5 अगस्त को सुबह 11.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक पूजा का आयोजन करें.

ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने लोगों से निवेदन किया है कि वे इस समारोह के लाइव टेलीकास्ट को अपने घरों से देखें. पिछले सप्ताह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेगा आयोजन की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए राम जन्मभूमि परिसर का दौरा किया था. एक रिपोर्ट के अनुसार 5 अगस्त को होने वाले समारोह के लिए वाराणसी और अयोध्या के 11 पुजारी पूजा करेंगे. कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए जाने वाले पुजारी प्रदीप दास इन 11 पुजारियों में शामिल नहीं हैं. ट्रस्ट ने दैनिक आधार पर संपूर्ण राम जन्मभूमि परिसर को पवित्र करने का निर्णय लिया है.


रिपोर्ट के अनुसार ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास ने कहा "चिंता करने की कोई बात नहीं है. मंदिर स्थल पर दैनिक अनुष्ठान करने वाले एक पुजारी की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है, पूरे परिसर को एक नियमित आधार पर पवित्र किया जाएग''. इस कार्यक्रम के लिए कुछ 200 लोगों को आमंत्रित किया गया है. ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरि ने कहा कि विभिन्न राज्यों के सभी मुख्यमंत्रियों को भी आमंत्रित किया जाएगा.

Corona Virus Updates: दुनियाभर में मरने वालों का आंकड़ा छह लाख 70 हजार के पार, 1.71 करोड़ से ज्यादा संक्रमित

ट्रस्ट के एक सदस्य ने कहा कि दिग्गज भाजपा नेता और पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी और राम जन्मभूमि आंदोलन के अन्य नेताओं को भी समारोह में आमंत्रित किया जाएगा. अयोध्या में राम जन्मभूमि स्थल पर तीन दिवसीय वैदिक अनुष्ठानों के लिए विस्तृत तैयारी की जा रही है. अनुष्ठान 3 अगस्त से शुरू होगा और बहुप्रतीक्षित मंदिर के निर्माण से पहले 5 अगस्त को भूमि पूजन' के साथ समाप्त होगा.

अयोध्या के संतों की अपील- दान की भूमि पर बाबर के नाम की मस्जिद न बनाएं मुस्लिम समाज के लोग

First published: 30 July 2020, 15:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी