Home » इंडिया » Ayodhya case: CJI meets UP officials regarding law and order before verdict
 

अयोध्या केस: फैसले से पहले कानून व्यवस्था को लेकर यूपी अधिकारियों से मिले CJI

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 November 2019, 12:11 IST

भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई आज उत्तर प्रदेश के मुख सचिव और पुलिस डीजी से मुलाकात करेंगे. अगले सप्ताह राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद टाइटल सूट में फैसले पर सुनवाई होने की संभावना के बीच सीजीआई ने कानून व्यवस्था पर यह मुलाकात की है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मुख्य न्यायाधीश दोपहर के आसपास बैठक करेंगे. मुख्य न्यायाधीश गोगोई का 17 नवंबर कार्यकाल ख़त्म हो रहा है और अपने पद से हटने वह फैसला सुना सकते हैं.

मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली पांच-न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने हिंदू और मुस्लिम दावेदारों के बीच मध्यस्थता विफल होने के बाद 6 अगस्त को अयोध्या भूमि विवाद मामले में सुनवाई शुरू की. फैसले के गंभीर सामाजिक और राजनीतिक निहितार्थ हैं क्योंकि यह बाबरी मस्जिद के विध्वंस की 27वीं वर्षगांठ से कुछ हफ्ते पहले आएगा. आने वाले दिनों में दिल्ली और बिहार में विधानसभा चुनाव भी होने हैं.

 

केंद्र में NDA सरकार का नेतृत्व करने वाली भारतीय जनता पार्टी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में इस स्थल पर राम मंदिर बनाने का वादा किया था. 2010 के इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ उच्चतम न्यायालय के समक्ष चौदह अपील दायर की गई थी, जिसमें कहा गया था कि विवादित 22.7 एकड़ को सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और राम लल्ला के बीच समान रूप से विभाजित किया जाना चाहिए.

राकेश अस्थाना केस में पॉलीग्राफ टेस्ट से खुलासा- घूस देने की बात निकली सच

First published: 8 November 2019, 12:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी