Home » इंडिया » Ayodhya case:Sunni waqf board advocate says, babri masjid destroyed by hindu taliban
 

SC में सुन्नी वक्फ बोर्ड की दलील- बामियान की तरह हिंदू तालिबान ने ढहाई बाबरी मस्जिद

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 July 2018, 17:33 IST

सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को अयोध्या राम मंदिर विवाद मामले की सुनवाई की गई. इस दौरान सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील  राजीव धवन ने बाबरी मस्जिद तोड़ने वालों को हिंदू तालिबानी बताया है. उन्होंने कहा कि जैसे तालिबान ने बामियान को नष्ट कर दिया था. ठीक उसी तरह हिंदू तालिबान ने बाबरी मस्जिद को नष्ट कर दिया. इसके अलावा धवन ने शिया वक्फ बोर्ड की ओर से दाखिल की गई याचिका को लेकर कहा कि 'शिया वक्फ बोर्ड का इस मामले में बोलने का हक नहीं है.

बता दें कि शिया वक्फ बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट में इस मामले को लेकर एक याचिका दाखिल की है. जिसमें कहा गया है कि वो इस विवाद को शांति से सुलझाना चाहते हैं. बाबरी मस्जिद का संरक्षक शिया वक्फ बोर्ड है. भारत का दूसरा कोई मुसलमान बाबरी मस्जिद का प्रतिनिधित्व नहीं करता है.

इससे पहले शिया यूपी सेंट्रल वक्‍फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने विवाद वाली जगह पर राममंदिर बनाने की वकालत करते हुए कहा कि अयोध्या में भगवान राम का जन्मस्थान है. वहां केवल राम मंदिर का निर्माण किया जाएगा. उस जगह पर पर कभी मस्जिद थी ही नहीं और ना कभी होगी.

गौरतलब है कि पिछली सुनवाई में वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने दलील देते हुए कहा था कि 'इस्लाम में मस्जिद की अहमियत है. इस्लाम सामूहिकता वाला मजहब है. मस्जिद में सामूहिक नमाज अदा की जाती है. मस्जिद कोई मजाक के लिए नहीं बनायी गयी थी, हजारों लोग यहां नमाज अदा करते हैं. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या राम मंदिर विवाद की लगातार सुनवाई चल रही है.

ये भी पढ़ें- राम मंदिर विवाद : SC में हिंदू पक्षकारों की दलील, मामला प्रॉपर्टी विवाद का है, धार्मिक रंग ना दें

First published: 13 July 2018, 17:33 IST
 
अगली कहानी