Home » इंडिया » Ayodhya: Construction of Ram Mandir is different from old model, now there will be 5 shikhars
 

अयोध्या: पुराने मॉडल की तरह नहीं बल्कि इतना विराट बनेगा राम मंदिर, भव्यता देखकर रह जाएंगे दंग

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 July 2020, 15:01 IST

Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या में पिछले कई दशकों से राम मंदिर का इंतजार है. लगता है अब यह इंतजार जल्द ही खत्म होने वाला है. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण भूमि पूजन के लिए भव्य तैयारियां काफी तेजी से चल रही हैं. रिपोर्ट्स के अनुसार, इस कार्यक्रम की तारीख 5 अगस्त तय की गई है. इसके लिए PMO न्यौता भेजा गया है.

बताया जा रहा है कि इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, देश के गृहमंत्री अमित शाह भी शामिल होंगे. इसके अलावा राम मंदिर आंदोलन से जुड़े बीजेपी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी तथा उमा भारती के भी कार्यक्रम में आने की संभावना है. हालांकि अभी तक प्रधानमंत्री मोदी के आने के पुष्टि नहीं हुई है.

पुराने मॉडल से भी भव्य होगा राम मंदिर

भूमिपूजन कार्यक्रम में चांदी की शिलाओं की पूजा-अर्चना की जाएगी. इसे महंत नृत्य गोपाल दास राम मंदिर को अर्पित करेंगे. इसके अलावा काशी तथा अयोध्या के 11 पुजारी भूमि पूजन करवाएंगे. भूमि पूजन गर्भगृह वाले स्थान पर होगा. इस दौरान 5 शिलाओं का पूजन होगा. बताया जा रहा है कि इसके लिए 40 किलो वजनी शिलाएं बनवाई गई हैं.  

पूर्व PM राजीव गांधी की हत्या मामले में दोषी नलिनी ने जेल में की आत्महत्या की कोशिश - रिपोर्ट

ट्रस्ट के सदस्य कामेश्ववर चौपाल ने बताया कि भले ही मॉडल में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है. लेकिन नए राम मंदिर की भव्यता बढ़ा दी गई है. इसके लिए ऊंचाई और दिव्यता के लिए थोड़ी चौड़ाई बढ़ाई जाएगी. राम मंदिर में  पहले तीन गुंबद थे जो अब पांच बनाए जाएंगे. पहले नाप 47000 स्क्वायर फिट थी, अब राम मंदिर 57000 स्काएर फिट में बनेगा.

अब मंदिर की ऊंचाई 128 की जगह होगी 161 फिट

उन्होंने बताया कि अब मंदिर की ऊंचाई 161 फिट हो जाएगी. मंदिर में लगने वाली शिलाओं को तराशने के बाद धुलाई का काम भी शुरू हो चुका है. मंदिर के पुराने नाप के हिसाब से 1,75000 स्क्वायर फिट पत्थरों की जरूरत थी. उन्होंने बताया कि करीब एक लाख स्क्वायर फिट पत्थर तराशे भी जा चुके हैं. लेकिन मंदिर बड़ा बनने से ज्यादा पत्थरों की जरूरत होगी. 

कामेश्ववर चौपाल ने बताया कि पहले मंदिर में तीन शिखर थे जो अब बढ़ाकर 5 कर दिए जाएंगे. मंदिर का एरिया पहले 47 हजार स्क्वायर फिट था जो अब बढ़ाकर 57 हजार स्क्वायर फिट होगा. मंदिर का एरिया 67 एकड़ से बढ़ाने की भी बात की जा रही है. मंदिर की पहले ऊंचाई 128 फिट थी जो अब 161 फिट होगी. इसके अलावा मंदिर परिसर के चारो ओर सीता, लक्ष्मण, भरत तथा गणेश भगवान के 4 मंदिर बनाने की बात सामने आई है. 

राजस्थान: CM अशोक गहलोत तक पहुंची CBI की आंच, OSD को पूछताछ के लिए बुलाया

Coronavirus Update: देश में रिकवर हुए 724577 लोग, 24 घंटे में सामने आये 37,148 नए कोविड मामले

First published: 21 July 2020, 15:00 IST
 
अगली कहानी