Home » इंडिया » Ayodhya Verdict: Asaduddin Owaisi not satisfied with the verdict says Supreme Court is not infallible
 

अयोध्या केस: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर ओवैसी ने जो कहा वह आपको जरूर जानना चाहिए

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 November 2019, 15:10 IST

अयोध्या के राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन को रामजन्मभूमि न्यास को सौंप दिया है. इस फैसले पर AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने अपनी नाराजगी जताई है. ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा मुस्लिम पक्ष को पांच एकड़ वैकल्पिक जमीन देने के फैसले पर सवाल खड़े किए हैं.

ओवैसी ने कहा कि देश के मुसलमानों को 5 एकड़ जमीन के खैरात की जरूरत नहीं है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट सुप्रीम है लेकिन उसका फैसला अमिट नहीं है. ओवैसी ने कहा कि मेरी राय में पांच एकड़ जमीन नहीं लेनी चाहिए. 

ओवैसी ने कहा कि मुस्लिम आवाम इतनी मजबूत है कि यूपी में वह कहीं भी जमीन के लिए पैसा इकट्ठा कर सकती है. उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान का मुसलमान इतना गया गुजरा नहीं है कि वो 5 एकड़ जमीन न खरीद पाए. हम अपने कानूनी अधिकार के लिए लड़ रहे थे. हमें भीख की जरूरत नहीं है.

ओवैसी ने कहा कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले से सहमत नहीं है, उसी तरह हम भी फैसले से सहमत नहीं हैं. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से भी चूक हो सकती है. नाराजगी जताते हुए उन्होंने कहा कि जिन्होंने बाबरी मस्जिद को ढहाया, उन्हें ही ट्रस्ट बनाकर राम मंदिर बनाने का काम दे दिया गया है.

अयोध्या केस: Facebook, Whatsapp और Twitter पर अफवाह फैलाई तो खैर नहीं, होगी बड़ी सजा

जानिए क्या है अयोध्या विवाद की पूरी कहानी, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 2010 में सुनाया था ये फैसला

First published: 9 November 2019, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी