Home » इंडिया » Ayodhya Verdict : Defence Minister Rajnath Singh Says time has come for uniform civil code
 

अयोध्या: राम जन्मभूमि पर आए फैसले पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का बड़ा बयान

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 November 2019, 9:31 IST

अयोध्या में राम जन्मभूमि विवाद पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का बड़ा बयान आया है. दरअसल, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से राम जन्मभूमि पर फैसला आने के बाद यूनिफॉर्म सिविल कोड को लेकर सवाल पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि समय आ गया है. इसी के साथ सिहं ने अयोध्या पर आए फैसले को लैंडमार्क डिसीजन करार दिया और कहा कि कोर्ट के फैसले का सम्मान होना चाहिए.

बता दें कि शनिवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह उत्तराखंड राज्य के 20वें स्थापना दिवस समारोह में शामिल होने के लिए देहरादून पहुंचे थे. इस दौरान राजनाथ सिंह ने कहा, "अयोध्या पर माननीय सुप्रीम कोर्ट का निर्णय ऐतिहासिक है. इस फैसले से भारत का सामाजिक तानाबाना और मजबूत होगा. मैं सभी लोगों से इस फैसले को समानता और उदारता से स्वीकार करने का आग्रह करता हूं."

गौरतलब है कि दिल्ली हाई कोर्ट सोमवार को यूनिफॉर्म सिविल कोड से जुड़ी कई याचिकाओं पर सुनवाई करेगा. दिल्ली हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस डीएन पटेल और जस्टिस सी हरिशंकर की खंडपीठ भी 15 नवंबर को इस मामले की सुनवाई करेगी. बता दें कि इस साल मई में दिल्ली हाई कोर्ट ने लॉ कमीशन को यह जिम्मेदारी सौंपी थी कि, इसको लेकर दायर पीआईएल पर एक हलफनामा दायर करे.

जानिए क्या है यूनिफॉर्म सिविल कोड

देश के सभी नागरिकों के लिए एक जैसा कानून चाहे वो किसी भी धर्म या जाति का हो. संविधान के अनुच्छेद 44 में समान नागरिक संहिता की चर्चा है. संविधान में कहा गया है कि भारत के सभी राज्यों में नागरिकों के लिए एक समान नागरिक संहिता देने की कोशिश होगी.

हालांकि, भारत में अभी हिंदुओं, मुस्लिमों और ईसाइयों के लिए अलग-अलग नियम हैं. वहीं हिंदू, सिख, जैन और बौद्ध पर हिंदू कोड बिल कानून लागू होता है. वहीं मुस्लिम, ईसाई और पारसी समुदाय का अपना-अपना 04पर्सनल लॉ है. इसी के चलते अभी शादी, तलाक, संपत्ति और बच्चा गोद लेने के मामले में सभी धर्मों के लोग अपने-अपने पर्सनल लॉ का पालन करते हैं.

ये भी पढ़ें- 

अयोध्या केस: 1990 से राम मंदिर के पत्थर तराश रहा था ये शख्स, फैसले से पहले हो गई मौत

Ayodhya Verdict: रामजन्मभूमि न्यास को सुप्रीम कोर्ट ने क्यों दी जमीन

Ayodhya Verdict: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पाकिस्तान से आई तीखी प्रतिक्रिया

First published: 10 November 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी