Home » इंडिया » AYUSH Ministry: Yoga Day Session Start with 'OM'
 

आयुष मंत्रालय: योग दिवस पर 'ऊँ' का जाप जरूरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 May 2016, 19:01 IST

21 जून को पूरी दुनिया में अंतराष्ट्रीय योग दिवस मानाया जाने वाला है. लेकिन इससे पहले ही आयुष मंत्रालय ने प्रोटोकाल जारी करके विवाद पैदा कर दिया है. आयुष  मंत्रालय ने प्रोटोकाल में कहा कि 21 जून को योग के दौरान ओम (ऊँ) मंत्र का जाप जरूरी होगा.

आयुष मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर इसकी जानकारी उपलब्ध कराई है. इसमें कहा गया है कि कार्यक्रम की शुरुआत ओम मंत्र के साथ प्रार्थना से होगी. जबकि कार्यक्रम का समापन शांति पाठ से किया जाएगा.

प्रार्थना से होगी योग की शुरुआत

पिछले साल 21 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों के फलस्वरूप पहला योग दिवस मनाया गया था।. 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र संघ के देशों ने भी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को मंजूरी दी थी. इसकी पहल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में संयुक्त राष्ट  महासभा में अपने भाषण से की थी.

आयुष मंत्रालय की प्रेस रिलीज के मुताबिक, योग दिवस पर कुल 45 मिनट का कार्यक्रम होगा. इसमें 6 मिनट गर्दन और कंधे से जुड़े आसन होंगे. दो मिनट प्रार्थना होगी और इसके बाद 23 योग आसन किए जाएंगे. 

इस कार्यक्रम को देशभर के स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी में लागू किया जाएगा. इसके लिए यूजीसी ने भी सभी यूनिवर्सिटी को प्लान भेज दिया है.

आदेश धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ

हालांकि इस बार ऊं के उच्चारण के जरूरी होने के बाद राजनीति भी शुरू हो गई है. फिल्म अभिनेता अनुपम खेर ने सरकार के इस फैसले का खुलकर समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि ऊं के उच्चराण पर राजनीति नहीं की जानी चाहिए, जिसे ऊं नहीं कहना वो कुछ और कह सकता है.

कोलकाता के मुस्लिम धर्मगुरु शफीक काजी ने कहा कि ये फैसला धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ है. उन्होंने कहा, ये सत्ता का गलत इस्तेमाल है, जो हमारी आस्था के खिलाफ है. ये देश के सभी लोगों की आस्था एक छतरी के नीचे लाने की प्लानिंग है.

साल 2015 में भी योग दिवस पर ऊँ के उच्चारण को लेकर मोदी ने बयान दिया था कि भारत में ओम बोलने पर भी विवाद हो सकता है. इसके बाद आयुष मंत्रालय ने ऊँ कहने को जरूरी नहीं बताया था. इस बार योग दिवस के मौके पर आयुष मंत्रालय ने ओम के उच्चारण को जरूरी कर दिया है.

21 जून 2015 को पहली बार योग दिवस की शुरुआत हुई थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गणमान्य लोगों समेत करीब 36 हजार लोगों ने पहले अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के लिए 35 मिनट तक 21 योग आसन (योग मुद्राओं) का प्रदर्शन किया था. राजपथ पर आयोजित योग समारोह ने दो गिनीज रिकॉर्ड्स बनें थे.

First published: 17 May 2016, 19:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी