Home » इंडिया » Azadi slogans jawaharlal nehru university article 370 jammu and kashmir delhi police amit shah
 

'आर्टिकल 370 को वापस लाओ' के JNU में देर रात लगे नारे

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 August 2019, 10:41 IST
प्रतीकात्मक तस्वीर

कश्मीर से आर्टिकल 370 को खत्म कर दिया गया है. इस आर्टिकल के तहत कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा मिला था. जिससे उन्हें अलग संविधान अलग कानून बनाने जैसी छूट दी गई थी. आर्टिकल 370 खत्म खत्म करने के साथ ही मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल को भी राज्यसभा में पास करा दिया है. इस बिल पर आज लोकसभा में चर्चा होगी.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 को खत्म करने के बाद दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में नारेबाजी देखी गई. सोमवार की रात सरकार के इस फैसले का जमकर विरोध किया गया. जेएनयू में एक तरफ जहां आर्टिकल 370 को वापस लाने की मांग हो रही है. रिपोर्ट्स के अनुसार जम्मू विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा इसे लेकर जश्न मनाया जा रहा है. वहीं, दूसरे राज्यों में भी धारा 370 को खत्म करने की बात से जश्न का माहौल है.

प्रतीकात्मक तस्वीर

आर्टिकल 370 हटने से क्या-क्या होगा बदलाव

राज्य का अलग संविधान नहीं होगा.
जम्मू-कश्मीर को अब तक जो विशेष राज्य का दर्जा मिलता रहा है वो खत्म हो जाएगा.
देश का कोई भी नागरिक जम्मू-कश्मीर में सरकारी नौकरी पा सकता है.
दूसरे राज्य के लोग यहां वोट कर सकेंगे, चुनाव में उम्मीदवार भी बन सकते हैं.
दूसरे राज्यों के लोग जम्मू कश्मीर में बिजनेस कर सकेंगे.
राज्य की विधानसभा का कार्यकाल अब पांच साल का होगा, जो पहले छह साल का था.
लद्दाख में विधानसभा नहीं होगी, लेफ्टिनेंट गवर्नर होगा.
जम्मू कश्मीर के लोगों को कोई अलग से सुविधा नहीं मिलेगी.
जम्मू कश्मीर में देश का कोई भी नागरिक जमीन खरीद पाएगा.

अमित शाह बोले- धारा 370 न होता तो कश्मीर में 41,800 लोगों ने जान नहीं गंवाई होती

First published: 6 August 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी