Home » इंडिया » Baba Hardev Singh wife Savinder to head Nirankari sect
 

निरंकारी बाबा हरदेव सिंह की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 May 2016, 11:31 IST

निरंकारी मिशन के प्रमुख बाबा हरदेव सिंह की अंतिम यात्रा में जनसैलाब उमड़ पड़ा है. दिवंगत हरदेव सिंह को श्रद्धांजलि देने के लिए काफी तादाद में अनुयायी अंतिम यात्रा में शिरकत कर रहे हैं.

बाबा हरदेव सिंह की अंतिम यात्रा ग्राउंड नंबर 8, बुराड़ी रोड से शुरू हुई. निगमबोध घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

गौरतलब है कि 13 मई को कनाडा के मॉन्ट्रियल में हुए एक सड़क हादसे में निरंकारी बाबा हरदेव सिंह और उनके दामाद अवनीत सेतिया की मौत हो गई थी.

ट्रैफिक पुलिस की एडवायजरी

बाबा हरदेव सिंह के अंतिम दर्शन के लिए देश-विदेश से उनके लाखों भक्त दिल्ली पहुंचे हैं. अंतिम यात्रा के दौरान लोगों की भीड़ को देखते हुए ट्रैफ़िक पुलिस ने एडवाइजरी जारी की है. दिल्ली में रिंग रोड, माल रोड, चंदगीराम अखाड़े और कश्मीरी गेट बस स्टैंड के पास आज जाम के हालात बने रह सकते हैं.

दिवंगत बाबा हरदेव सिंह 36 साल तक निरंकारी समुदाय के प्रमुख रहे. उनका शव सोमवार को कनाडा से दिल्ली लाया गया था और अंतिम दर्शन के लिए बुराड़ी स्थित ग्राउंड नंबर आठ में रखा गया था.

अंतिम संस्कार के बाद आज शाम को निरंकारी सरोवर के सामने ग्राउंड नंबर दो में दोपहर तीन बजे से शाम सात बजे तक श्रद्धांजलि समारोह होगा.

सविंदर बनीं निरंकारी मिशन की प्रमुख


निरंकारी मिशन के प्रमुख हरदेव सिंह के निधन के बाद अब उनकी पत्नी सविंदर कौर को उनके उत्तराधिकारी के तौर पर चुना गया है. मंगलवार को संत निरंकारी मिशन की ओर से फेसबुक पर भी इसकी घोषणा की गई है.

पोस्ट में कहा गया है, "'सतगुरु बाबा हरदेव सिंह 13 मई को निरंकार में लीन हो गए. उनके जाने से सभी भक्त दुखी हैं. बाबा हरदेव सिंह की पत्नी पूज्य माता सविंदर जी अब संत निरंकारी मिशन की धार्मिक प्रमुख होंगी."

1980 में संभाली थी गद्दी


पिछले शुक्रवार को संत निरंकारी बाबा हरदेव सिंह का कनाडा के मॉन्ट्रियल में एक सड़क हादसे में निधन हो गया था. बाबा हरदेव सिंह कार से न्यूयॉर्क से कनाडा के मॉन्ट्रियल जा रहे थे. उनके दोनों दामाद अवनीत और सन्नी उनके साथ थे.

भारतीय समयानुसार सुबह करीब साढ़े पांच बजे कार अचानक पलट गई. इस हादसे में तीनों लोग घायल हो गए. तीनों को अस्पताल पहुंचाया गया. जहां 62 वर्षीय बाबा हरदेव सिंह और उनके दामाद अवनीत की मौत हो गई थी.

बाबा हरदेव सिंह का जन्म 23 फरवरी, 1954 को दिल्ली में हुआ था. निरंकारी बाबा हरदेव सिंह ने 27 अप्रैल 1980 को गद्दी संभाली थी.

First published: 18 May 2016, 11:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी