Home » इंडिया » Baba Ramdev's company Patanjali plunged 10 percent in financial year 2017-18
 

बाबा रामदेव के आए बुरे दिन ! पतंजलि उत्पादों की बिक्री में भारी गिरावट

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 June 2019, 16:10 IST

पिछले कुछ सालों में देश के खुदरा बाजार में योग गुरू बाबा रामदेव की पतंजलि ने अपनी धाक जमाई थी. लेकिन बीते वित्त वर्ष में पतंजलि के उत्पादों की बिक्री में भारी गिरावट दर्ज की गई है. तीन साल पहले यानि साल 2017 में बाबा रामदेव ने एक कार्यक्रम में कहा था कि उनकी कंपनी के टर्नओवर के आंकड़े मल्टीनेशनल कंपनियों को कपालभाती करने को मजबूर कर देंगे.

बाबा रामदेव ने दावा किया था कि साल 2018 में मार्च महीने में जब वित्त वर्ष खत्म होगा, तब तक पतंजलि की बिक्री दोगुनी से ज्यादा होकर 20 हजार करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगी. हालांकि बाबा रामदेव का यह दावा मात्र दावा भर रह गया और पतंजलि की बिक्री 10 फीसदी घटकर 8100 करोड़ रुपये रह गई है. 

जहां तीन साल पहले पतंजलि का कारोबार बुलंदियों पर था वहीं अब इसकी हालत खस्ता होती नजर आ रही है. रायटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त वर्ष 2017-18 में पतंजलि के उत्पादों की बिक्री में 10 फीसदी की कमी आई है. पतंजलि से मिली जानकारी के अनुसार केयर रेटिंग्स ने अप्रैल में कहा था कि जिस तरह के आंकड़े सामने आ रहे हैं, ये 31 दिसंबर 2019 तक कंपनी की बिक्री महज 4700 करोड़ रुपये रहने के संकेत दे रहे हैं.

कंपनी के कर्मचारियों(मौजूदा एवं पूर्व), माल सप्लायर्स, डिस्ट्रीब्यूटर्स, स्टोर मैनेजर्स और उपभोक्ताओं से बातचीत के अनुसार, कंपनी को कुछ गलत कदमों की वजह से घाटा उठाना पड़ा है. उन्होंने उत्पादों की अस्थिर क्वालिटी की ओर खास तौर पर इशारा किया. हालांकि इन सबके बाद भी कंपनी का विस्तार हुआ. 

पतंजलि के अधिकारी हालांकि कंपनी के नुकसान को नोटबंदी और जीएसटी से जोड़कर देखते हैं. उनका कहना है कि साल 2016 की नोटबंदी से और 2017 की जीएसटी के बाद कंपनी की आर्थिक गतिविधियां बुरी तरह प्रभावित हुईं हैं. 

दरअसल, बाबा रामदेव ने शुरुआत में जिस तरह से अपनी कंपनी को 'देशी' से जोड़कर लोगों के सामने रखा था उसके बाद शुरुआत में उसके उत्पादों पर लोगों ने खूब भरोसा दिखाया था. पतंजलि के नारियल तेल और आयुर्वेदिक औषधियां विदेशी कंपनियों के लिए बड़ी चुनौती बनकर उभरे थे. 

बंगाल BJP में शुरु हुआ विद्रोह, पार्टी कार्यकर्ता आपस में भिड़े, नेतृत्व के खिलाफ उतरे सड़कों पर

World Cup 2019: ऋषभ पंत की खुली किस्मत, धवन की जगह लेने के लिए इंग्लैंड रवाना

First published: 12 June 2019, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी