Home » इंडिया » Baba Ramdev's Patanjali launches COVID-19 medicine, read what is claimed
 

Coronavirus : बाबा रामदेव की पतंजलि ने लॉन्च की कोविड-19 की दवा, पढ़िए क्या है दावा

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2020, 13:28 IST

बाबा रामदेव की पतंजलि ने COVID-19 के इलाज के लिए एक आयुर्वेदिक दवा लॉन्च की है. पतंजलि आयुर्वेद के एमडी आचार्य बालकृष्ण ने इस महीने की शुरुआत में दावा किया था कि कंपनी द्वारा विकसित एक आयुर्वेदिक दवा COVID-19 रोगियों को 5 से 14 दिनों के भीतर ठीक करने में सक्षम है. इस दवा का नाम (Coronil tablet) कोरोनिल टेबलेट है. बाबा रामदेव का कहना है कि यह इम्युनिटी बूस्टर नहीं बल्कि एक इलाज है. उन्होंने कहा कि कोरोना किट की डिलीवरी के लिए एक ऐप लॉन्च किया जाएगा.

बाबा रामदेव ने कहा ''आज हम ये कहते हुए गौरव अनुभव कर रहे हैं कि कोरोना की पहली आयुर्वेदिक, क्लीनिकली कंट्रोलड, ट्रायल, एविडेंस और रिसर्च आधारित दवाई पतंजलि रिसर्च सेंटर और NIMS के संयुक्त प्रयास से तैयार हो गई है''. उन्होंने कहा इस दवाई पर हमने दो ट्रायल किए हैं, 100 लोगों पर क्लीनिकल स्टडी की गई उसमें 95 लोगों ने हिस्सा लिया. 3 दिन में 69 प्रतिशत मरीज़ ठीक हो गए. 7 दिन में 100% मरीज़ ठीक हो गए. 


बाबा रामदेव के अनुसार ''हमने हर तरह का शोध किया है और सभी सवालों के जवाब देंगे. पतंजलि ने दावा किया है कि इसका क्लिनिकल ट्रायल संयुक्त रूप से पतंजलि अनुसंधान संस्थान, हरिद्वार और राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान संस्थान, जयपुर द्वारा किया गया था. उन्होंने कहा "हमने COVID-19 के प्रकोप के बाद वैज्ञानिकों की एक टीम नियुक्त की. सबसे पहले सिमुलेशन किया गया था और कंपाउंड्स की पहचान की गई थी जो वायरस से लड़ सकते हैं और शरीर में इसके प्रसार को रोक सकते हैं.

पतंजलि ने कहा ''हमने सैकड़ों पॉजिटिव रोगियों पर क्लिनिकल मामले का अध्ययन किया. बालकृष्ण ने कहा "हमें 100 प्रतिशत अनुकूल परिणाम मिले हैं." उन्होंने कहा "हमारी दवा लेने के बाद COVID रोगियों को 5-14 दिनों में रिकवर किया गया या फिर निगेटिव हुए हैं, इसलिए हम कह सकते हैं कि COVID का इलाज आयुर्वेद के माध्यम से संभव है. हम केवल नियंत्रित क्लिनिकल ट्रायल कर रहे हैं. अगले 4-5 दिनों में सबूत और डेटा हमारे द्वारा जारी किया जाएगा''.

बाबा रामदेव ने कहा कि जब कहीं क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल होता है तो कई अप्रूवल की जरूरत होती है. इस दवा के लिए भी तमाम नैशनल एजेंसियों से अप्रूवल लिए गए हैं.बाबा रामदेव ने कहा कि लोग इस बात से जलेंगे कि किसी संन्यासी ने कोरोना की दवा बना ली है. बाबा रामदेव ने दावा किया की कोरोनिल टेबलेट में गिलोय, तुलसी और अश्वगंधा है, जो हमारे इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत करता है. जबकि अणु तेल नाक में डालने से हमारे रेस्परेटरी सिस्टम मौजूद वायरस को ख़त्म किया जाता है.

कोरोना वायरस का कहर जारी, दुनियाभर में 4.74 लाख से ज्यादा लोगों की मौत, 91 लाख संक्रमित

First published: 23 June 2020, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी