Home » इंडिया » Bangladesh PM Sheikh Hasina has closed onions in her kitchen because of India
 

भारत की वजह से बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने अपने किचन में बंद किया प्याज !

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 October 2019, 17:34 IST

प्याज की बढ़ती कीमतों के कारण भारत ने फ़िलहाल प्याज पर प्रतिबंध लगा दिया है. प्याज के निर्यात पर भारत का प्रतिबंध अपने पड़ोसी देश बांग्लादेश के साथ द्विपक्षीय व्यापार संबंधों में एक अड़चन बन गया है. शुक्रवार को इंडिया-बांग्लादेश बिज़नेस फोरम में बोलते हुए बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना ने कहा ''प्याज को लेकर थोड़ा दिक्कत हो गया है' मुझे मालूम नहीं आपने क्यों प्याज बंद कर दिया. थोड़ा नोटिस देने से अच्छा होता, हम दूसरे देश से ला सकते थे. अचानक बंद कर दिया और ये हमारे लिए मुश्किल बन गया''.

मज़ाक में हसीना ने कहा, प्याज पर भारत के निर्यात प्रतिबंध के बाद मैंने अपने रसोई घर में कुक को प्याज का उपयोग नहीं करने के लिए कहा है. भारत के ट्रेड मिनिस्टर पीयूष गोयल उस समय मंच पर थे, जब हसीना भारतीय उद्योग मंडलों सीआईआई, फिक्की और एसोचैम द्वारा आयोजित कार्यक्रम में अपना भाषण दे रही थीं. भारत सरकार ने रविवार को प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया और कुछ राज्यों में बाढ़ के बाद आपूर्ति बाधित होने के कारण देश के कुछ हिस्सों में खुदरा प्याज की कीमतें 80 के पार हो गई.


सरकार ने शुरूआत में प्याज का न्यूनतम निर्यात मूल्य 13 सितंबर को प्याज पर 850 डॉलर प्रति टन लगाया था, लेकिन उपभोक्ता मामलों के सचिव ए.के. श्रीवास्तव ने वाणिज्य मंत्रालय से शिकायत की कि डीजीएफटी ने निर्यात पर प्रतिबंध लगाने के बाद निर्यात बेरोकटोक जारी है.

एक रिपोर्ट के अनुसार एक सरकारी अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर रविवार को कहा, "बांग्लादेश और श्रीलंका में न्यूनतम निर्यात मूल्य से नीचे के निर्यात को तुरंत रोक दिया जाएगा और जो लोग सरकार के इस फैसले का उल्लंघन करते पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी." एक साल पहले अप्रैल-जुलाई में भारत का प्याज निर्यात 10.7% गिरकर 154.5 मिलियन डॉलर हो गया था. मलेशिया, बांग्लादेश, श्रीलंका और संयुक्त अरब अमीरात इस अवधि के दौरान भारत से प्याज के शीर्ष आयातक थे.

अपनी पहली यात्रा पर निकली दिल्ली-लखनऊ तेजस एक्सप्रेस, लेट हुई तो इतने पैसे होंगे रिफंड

First published: 4 October 2019, 16:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी